ऑनलाइन पढ़ाई में कॉलेज छात्रों की रूचि नहीं, 2664 की पंजीकृत

पढ़ई तुंहर द्वार पोर्टल के जरिए हो रही ऑनलाइन पढ़ाई (online classes) में महाविद्यालयों के छात्र ज्यादा रुचि नहीं ले रहे हैं।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 26 Oct 2020, 04:20 PM IST

महासमुंद. पढ़ई तुंहर द्वार पोर्टल के जरिए हो रही ऑनलाइन पढ़ाई (online classes) में महाविद्यालयों के छात्र ज्यादा रुचि नहीं ले रहे हैं। अप्रैल से अब तक मात्र 2664 विद्यार्थियों ने ही पंजीयन कराया है। इसके अलावा पोर्टल में 116 प्राध्यापक ही पंजीकृत हैं।

कोरोनावायरससंक्रमण के कारण स्कूल व कॉलेज छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हुई है। स्कूली छात्रों को कई महीनों से चार तरीकों से ऑनलाइन शिक्षा दी जा रही है। इधर, कॉलेज के छात्र भी पढ़ई तुंहर द्वार पोर्टल से ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं। बावजूद इसके कम संख्या में कॉलेज छात्र पोर्टल से जुड़ पाए हैं। शुरू में कुछ विषय की ऑनलाइन कक्षाएं ली गई, लेकिन उसके बाद से ठप है।

इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अब तक कॉलेज के सिर्फ एक ही छात्र ने होमवर्क किया है और एक बार ही होमवर्क की जांच की गई है। वहीं शंका व समाधान पर ध्यान दिया जाए तो छात्रों ने 20 प्रश्न पूछे हैं, जिस पर 15 का जवाब छात्रों को दिया गया है। इस तरह देखा जाए तो कॉलेज के विद्यार्थी भी ऑनलाइन अध्ययन में रुचि नहीं ले रहे हैं। वहीं प्रथम वर्ष की एडमिशन प्रक्रिया अभी भी जारी है।

इस वजह से अभी तक प्रथम वर्ष की भी पढ़ाई शुरू नहीं हुई है। छात्र असमंजस में हैं। जबकि, विवि ने सभी कॉलेज के शिक्षकों को विषय से संबंधित वीडियो अपलोड करने को कहा था, लेकिन इसके बाद वीडियो भी कम अपलोड किए गए हैं। नरेश नायक ने कहा कि प्रथम वर्ष की ऑनलाइन कक्षा शीध शुरू की जानी चाहिए। सत्र में देरी भी हो चुकी है।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned