किसानों ने अधूरे बांध को पूरा कराने कलेक्ट्रेट का किया घेराव, मिला आश्वासन

किसानों ने अधूरे बांध को पूरा कराने कलेक्ट्रेट का किया घेराव, मिला आश्वासन

Deepak Sahu | Publish: Sep, 05 2018 03:33:38 PM (IST) Mahasamund, Chhattisgarh, India

जलाशय को पूर्ण कराने की मांग को लेकर महासमुंद के हजारों किसानों ने हितेश चंद्राकर के नेतृत्व में कलक्टोरेट का घेराव किया

महासमुंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के बागबाहरा ब्लॉक के धरमपुर जलाशय को पूर्ण कराने की मांग को लेकर महासमुंद विकासखंड के ग्राम परसदा, बागबाहरा ब्लॉक के धरमपुर व बिजराडीह के हजारों किसानों ने हितेश चंद्राकर के नेतृत्व में कलक्टोरेट का घेराव किया। 15 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल कलक्टर से मुलाकात कर अधूरे बांध को पूर्ण कराने की मांग की। इस पर कलक्टर ने किसानों को आश्वासन दिया।

ज्ञात हो कि वर्ष 2002 में धरमपुर जलाशय का निर्माण कार्य शुरू हुआ था। वर्तमान में 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है। वन भूमि आ जाने से 20 प्रतिशत निर्माण कार्य अधर में लटक गया है। जिसे पूर्ण कराने की मांग को लेकर जिला मुख्यालय स्थित शंकराचार्य भवन के पास हजारों किसान एकत्रित हुए। किसानों ने शंकराचार्य भवन से रैली निकाली। रैली बरोंडा चौक, नेहरू चौक, स्वामी चौक, अंबेडकर चौक, विठोबा टॉकिज, महामाया मंदिर, गांधी चौक, शास्त्री चौक होते हुए कलक्टोरेट पहुंची। रैली के दौरान किसानों ने बांध नहीं तो मतदान नहीं के नारे लगाते रहे। कलक्टोरेट गेट के सामने पुलिस ने रैली को रोक दिया। इधर, किसान कलक्टर से मिलने की मांग को लेकर प्रवेश द्वार के सामने ही बैठ गए।

 

cg news

प्रशासन की ओर से किसानों से चर्चा करने संयुक्त कलक्टर एसके तिवारी आए, लेकिन किसान कलक्टर से ही मिलने की जिद पर अड़े रहे। किसान कलक्टर परिसर के बाहर मांग को लेकर जमकर नारेबाजी की। घंटेभर बाद किसानों का १५ सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल ने कलक्टर से मुलाकात की। इस पर कलक्टर ने कार्यवाही का आश्वासन दिया। ग्रामीणों ने बताया कि धरमपुर जलाशय का निर्माण कार्य वन भूमि में आने के कारण रुक गया है। इस बांध का कार्य करीब 80 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। 117 हेक्टेयर अधिग्रहण भूमि में से 45.36 हेक्टेयर निजी भूमि अधिग्रहित कर मुआवजा वितरण भी किया जा चुका है। शेष 42.68 हेक्टेयर के एवज में जिला प्रशासन द्वारा वन विभाग को राजस्व भूमि का हस्तांतरण भी कर दिया गया है।

26 मार्च 2015 को भारत सरकार के वन एवं पर्यावरण मंत्रालय द्वारा जलाशय निर्माण के लिए क्लीयरेंस भी जारी किया जा चुका है और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा बजट में भी प्रावधान किया गया है। जल संसाधन विभाग द्वारा प्रस्ताव भी शासन को भेजा जा चुका है। रैली लेकर पहुंचे किसानों मेें जुगनु चंद्राकर, चमन सिन्हा, बृज बरिहा, शेखर चन्द्राकर, रामकृष्ण चन्द्राकर, संतोष सिन्हा, मोहन सिन्हा, खेमराज साहू, बाबूलाल, कांशीराम, केशवराम सिन्हा, भोला साहू, रामखिलावन साहू, मनोज साहू, बुधराम ध्रुव सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण 16 टै्रक्टरों में ग्रामीण जिला मुख्यालय पहुंचे थे। कलक्टोरेट घेराव में महिलाओं की संख्या सबसे ज्यादा थी।

कामकाज छोडक़र पहुंचे जिला मुख्यालय
बांध के निर्माण को पूरा करने के लिए ग्राम परसदा, बागबाहरा ब्लॉक के धरमपुर व बिजराडीह के हजारों किसान मंगलवार को काम-काज बंद कर कलक्टोरेट का घेराव करने पहुंचे थे। वहीं सिंचाई परियोजनाओं को लेकर विगत कई वर्षों से सक्रिय हितेश चंद्राकर भी किसानों के साथ पहुंचे थे। जिला मुख्यालय में धरमपुर जलाशय को पूर्ण कराने की मांग को लेकर निकाली गई रैली में बड़ी संख्या में ग्रामीण शामिल हुए।

Ad Block is Banned