स्कूल व स्वास्थ्य केंद्रों में अचानक पहुंचे कलक्टर, बच्चों से ली उनकी पढ़ाई की जानकारी

इस दौरान कलक्टर जैन प्राथमिक शाला पहुंचे और विभिन्न कक्षाओं में पहुंचकर बच्चों के शैक्षणिक स्तर एवं गतिविधियों की भी जानकारी ली।

By: Deepak Sahu

Updated: 03 Jan 2019, 01:42 PM IST

महासमुंद. कलक्टर सुनील कुमार जैन ने महासमुंद विकासखंड के झालखम्हरिया धान खरीदी केंद्र, प्राथमिक शाला झालखम्हरिया, शासकीय उच्च प्राथमिक शाला कोसरंगी, आंगनबाड़ी केन्द्र कोसरंगी, प्राथमिक शाला कोसरंगी एवं उप स्वास्थ्य केन्द्र कोसरंगी का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान एसडीएम सुनील कुमार चंद्रवंशी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एसबी मंगरूलकर, खाद्य अधिकारी अजय यादव, जिला शिक्षा अधिकारी बीएल कुर्रे, सीसीबी के नोडल अधिकारी डीएल नायक, डीआरसीएस आरडी कुल्हाड़ा, जिला विपणन अधिकारी सुनील राजपूत विशेष रूप से उपस्थित थे।

निरीक्षण के दौरान कलक्टर जैन ने झालखम्हरिया ग्रामीण सेवा सहकारी समिति के धान उपार्जन केन्द्र पहुंचकर धान खरीदी का जायजा लिया। वहां उन्होंने किसानों से बातचीत की और वहां की समस्याओं से अवगत हुए। बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि धान खरीदी समय पर पूरा किया जाए और इसके शीघ्र उठाव कराए जाएं। उन्होंने उपार्जित धान उपार्जन केन्द्र से परिवहन कराने पर विशेष रूप जोर दिया। इस दौरान कलक्टर जैन झालखम्हरिया के प्राथमिक शाला पहुंचे और विभिन्न कक्षाओं में पहुंचकर बच्चों के शैक्षणिक स्तर एवं गतिविधियों की भी जानकारी ली। बच्चों से उनके पढ़ाई के बारे में भी बातचीत की।

कलक्टर ने यहां प्राथमिक विद्यालय प्रांगण के समतलीकरण के लिए कहा और यह भी कहा कि यहां किचन गार्डन तैयार कर सब्जी उगाई जा सकती है और उसका उपयोग मध्यान्ह भोजन के लिए किया जा सकता है। झालखम्हरिया स्थित उप स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचकर उन्होंने उप स्वास्थ्य केन्द्र में आमजन के लिए उपलब्ध दवाइयों की जानकारी ली। बताया गया कि प्रतिदिन पर्याप्त संख्या में मरीज पहुंचकर अपना इलाज कराते है। यह भी बताया गया कि यहां गांव में गर्भवती माताओं का टीकाकरण आदि समय पर पूरा कर लिया गया है तथा शत-प्रतिशत संस्थागत प्रसव यहां कराया जाता है। निरीक्षण के दौरान कई विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

कलक्टर ने की ओपीडी रजिस्टर की जांच

कोसरंगी स्थित आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण किया, जहां विंध्यवासिनी स्व सहायता समूह द्वारा बच्चों के लिए भोजन व्यवस्था की जाती है। उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों से कहा कि वे अपने बच्चों को आंगनबाड़ी केन्द्र भेजें। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्र में रखी गई खाद्य सामग्री का भी अवलोकन किया। उप स्वास्थ्य केंद्र कोसरंगी पहुंचकर उन्होंने आम जन के लिए उपलब्ध चिकित्सकीय व्यवस्था की जानकारी ली। उन्होंने ओपीडी रजिस्टर का अवलोकन किया। बताया गया कि बच्चों एवं गर्भवती माताओं का विभिन्न तिथियों में टीकाकरण किया जाता है।

कलक्टर ने की स्कूली बच्चों से बातचीत
निरीक्षण के दौरान कलक्टर जैन ने शासकीय उच्च प्राथमिक शाला कोसरंगी पहुंचे, जहां उन्होंने बच्चों से बातचीत की। सातवीं और आठवीं के कक्षा में पहुंचकर उन्होंने बच्चों से उनकी पढ़ाई और पाठ्यक्रम पूरा करने के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने बच्चों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसके अलावा कोसरंगी के ही मॉडल आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक एक में बच्चों के पंजीयन और उपस्थिति की भी जानकारी ली। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बच्चों के पंजीयन और उपस्थिति के बारे में बताया। यह भी बताया गया कि यहां पांच गर्भवती माताओं को गरम भोजन भी प्रदाय किया जाता है और जो माताएं आंगनबाड़ी में खाना नहीं खाती हैं, उनके लिए टिफिन ले जाने की व्यवस्था की गई है।

कोसरंगी के ही शासकीय प्राथमिक विद्यालय में कलक्टर जैन ने निरीक्षण कर बच्चों की उपस्थिति, शिक्षकों की पदस्थापना एवं उनकी उपस्थिति की जानकारी ली। सहायक शिक्षक पंचायत-वर्ग तीन धनेश कुमार दीवान अक्सर अनुपस्थित रहते है। इस संबंध में कलक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को शिक्षक के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। साथ ही इस विद्यालय के शिक्षक जो दूसरे विद्यालय में अध्यापन व्यवस्था के तहत अटैच हैं, उन्हें तत्काल वापस बुलाने के लिए कहा। कलक्टर ने इस विद्यालय की बाउंड्रीवाल बनाने और सुव्यवस्थित करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर जनपद पंचायत के सीईओ आभा तिवारी आदि उपस्थित थे।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned