नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना में ढंग से नहीं हुआ काम, मंत्री ने जताई नाराजगी

नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना में ढंग से नहीं हुआ काम, मंत्री ने जताई नाराजगी

Ashish Gupta | Updated: 14 Jul 2019, 02:19:28 PM (IST) Mahasamund, Mahasamund, Chhattisgarh, India

Narwa Garwa Ghurwa Badi scheme: नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना में ढंग से काम नहीं होने पर प्रदेश सरकार के मंत्री (CG Ministers) ने नाराजगी जताई।

महासमुंद. कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया समेत प्रदेश सरकार के मंत्री महासमुंद विकासखंड के ग्राम कछारडीह पहुंचे, यहां उन्होंने राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले नरवा, गरुवा, घुरवा एवं बाड़ी के तहत बनाए गए आदर्श गौठान का जायजा लिया। नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना (narwa garwa ghurwa badi scheme) में ढंग से काम नहीं होने पर मंत्री ने नाराजगी जताई।

BJP विधायक भीमा मंडावी को श्रद्धांजलि देते विधायकों ने नक्सली हिंसा पर दिखाया गुस्सा

इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्य सभा सांसद पीएल पुनिया (PL Punia) ने कहा कि राज्य शासन ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था के पुर्नजीवन के लिए छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, गरवा, घुरवा एवं बाड़ी (narwa garwa ghurwa badi) पर बेहतरी से कार्य करने के लिए संकल्पित है। यह पूरे विश्व में एक अनूठी योजना है। यह प्रयोग हर तरह से सफल होना चाहिए। सभी ने इसकी सराहना की है। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में किसानों की अधिकता को देखते हुए इस योजना को सोच-समझ कर काफी विचार-विमर्श कर बनाया गया यह कार्यक्रम एक चुनौतीपूर्ण है।

कबीरपंथियों के विरोध के बीच विधायकों ने CM को लिखा पत्र, मिड डे मिल में अंडा देने को बताया जरूरी

उन्होंने कहा, यह योजना सरकार की ही नहीं बल्कि आमजन की योजना है। इस योजना का अधिक से अधिक लाभ उठाएं। सरकार का उद्देश्य गरीबों एवं नागरिकों के विकास के विकास करने के लिए है। राज्य शासन इस दिशा में विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित कर नागरिकों के हित के लिए कार्य कर रही है। इसको सफल बनाने के लिए सभी नागरिकों की भागीदारी होनी चाहिए।

प्रदेश के वाणिज्यिक कर (आबकारी), उद्योग एवं जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा (Kawasi Lakhma) ने कहा कि वर्तमान सरकार आम नागरिकों, गरीब मेहनतकश मजदूरों और किसानों की सरकार है। सरकार द्वारा राज्य के सभी वर्गों के हितों के लिए कार्य किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि नरवा, गरवा, घुरवा एवं बाड़ी (narwa garwa ghurwa badi) एवं गौठान से जुड़ाव प्राचीन काल से हमारी छत्तीसगढ़ की संस्कृति एवं परम्परा से है, जिसे हमें इसका संरक्षण एवं संर्वधन करने अवश्यकता है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार ने इसे और मजबूती प्रदान करने के लिए इस योजना के तहत शुरुआत में अभी चयनित ग्राम पंचायतों में मॉडल गोठान विकसित किया जा रहा है।

जोगी की PM मोदी, अमित शाह से अपील, MP, राजस्थान में न करें सत्ता परिवर्तन वरना...

भाजपा पर किया प्रहार
जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा (Kawasi Lakhma) ने कहा कि हम आदर्श गोठान का अवलोकन करने आए हैं, इसलिए टेंट, कारपेट और सोफे की क्या जरूरत है। उन्होंने पूर्व की भाजपा सरकार पर भी जमकर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह (Raman Singh) और बृजमोहन अग्रवाल को भी चावल देंगे। उन्होंने कहा कि योजना का लाभ सभी को मिलेगा।

इस मौके पर राज्य सभा सांसद पीएल पुनिया सहित प्रदेश के वाणिज्यिक कर (आबकारी), उद्योग एवं जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा, नगरीय प्रशासन एवं विकास एवं श्रम मंत्री शिवकुमार डहरिया, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, महासमुंद विधायक विनोद चंद्राकर, खल्लारी विधायक द्वारिकाधीश यादव, बसना विधायक देवेन्द्र बहादुर सिंह एवं सरायपाली विधायक किस्मतलाल नंद, डॉ. चंदन यादव, केएन उरांव आदि उपस्थित थे।

Narwa Garwa Ghurwa Badi से जुड़ी खबरें यहां पढ़िए

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या Download करें patrika Hindi News App.

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned