योजना असफल, सौर ऊर्जा से रोशन नहीं हो पा रहे है उद्यान

महासमुंद नगर पालिका ने शहर के उद्यानों को सौर ऊर्जा से रोशन करने का प्लान बनाया था।

By: Deepak Sahu

Published: 18 Dec 2018, 03:53 PM IST

महासमुंद. महासमुंद नगर पालिका ने शहर के उद्यानों को सौर ऊर्जा से रोशन करने का प्लान बनाया था। के्रडा विभाग को इसका प्रस्ताव भी भेजा गया था, लेकिन अनुदान नहीं मिलने से प्लान असफल हो गया है। अभी उद्यानों का हाल यह है कि ढंग से लाइट तक नहीं जल रही है। शाम होते ही लोग गार्डन से निकल जाते हैं।

नगर पालिका ने सौर ऊर्जा से रोशन करने के लिए शहर के आठ प्रमुख उद्यानों को चयन किया था। इसमें संजय कानन, गुरुगोविंद सिंह उद्यान, नकुल ढीढी उद्यान, मोती बाल उद्यान समेत अन्य उद्यान शामिल थे। इसके लिए नपा ने करीब 30 लाख रुपए का बजट भी बनाया था। वर्ष 2017-18 के बजट में इसे शामिल कर क्रेडा से शत-प्रतिशत अनुदान की मांग की थी। लेकिन के्रडा ने गाइडलाइन के अनुसार 30 प्रतिशत अनुदान देने की बात कही। इसके बाद पालिका ने शासन स्तर पर भी गुहार लगाई, लेकिन बात नहीं बनी।

ज्ञात हो कि उद्यानों की लाइटें बहुत पुरानी हो चुकी हैं। वहीं संजय कानन पर लगी लाइटें बंद है। शहर के मध्य कई उद्यानों में लाइटें जलती नहीं हैं। सात बजे के बाद लोग उद्यान छोडक़र चले जाते हैं। मोती बाल उद्यान की स्थिति बहुत खराब हो गई है। लाइट नहीं जलने के कारण अब लोग वहां बैठते ही नहीं है । लाइट के साथ ही वहां के झूले व फिसलपट्टी भी टूट गए हैं।

उद्यानों से हरियाली व कुर्सियां गायब
देखरेख के अभाव में उद्यानों की हरियाली गायब हो गई है। लोगों को बैठने के लिए कुर्सियां भी नहीं मिल रही हैं। गार्डन में जितनी कुर्सियां थी, टूटी-फूट गई हैं और कई गायब भी हो चुकी हैं। संजय कानन में मनोरंजन के लिए स्थापित ट्रॉय ट्रेन भी जंग खाती पड़ी हुई है। पटरियां पूरी तरह से खराब हो चुकी हैं। नगर पालिका के अधिकारी व कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से ट्रॉय ट्रेन जंग खा रही है। सुध लेने वाला कोई नहीं है।

34 लाख की लागत से उद्यान का जीर्णोंद्धार

पालिका से मिली जानकारी के अनुसार आठ उद्यानों के जीर्णोद्धार के लिए पालिका ने चार करोड़ रुपए का प्रस्ताव बनाकर संचालनालय को भेजा था। सिर्फ बीटीआई रोड स्थित गुरु गोविंद सिंह उद्यान की मरम्मत के लिए 34 लाख रुपए की स्वीकृति मिली है। जिसका कार्य प्रारंभ हो चुका है। उद्यान प्रभारी विजय श्रीवास्तव ने बताया कि जैसे-जैसे स्वीकृति मिल रही, कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। रुपए आने पर शेष उद्यानों का भी कायाकल्प किया जाएगा।

नहीं मिला अनुदान
उद्यान प्रभारी विजय श्रीवास्तव ने बताया कि सौर ऊर्जा से शहर के आठ उद्यानों को रोशन करने का प्लान बनाया गया था, लेकिन अनुदान नहीं मिलने से कार्य प्रारंभ नहीं हुआ। वर्तमान में 34 लाख की लागत से गुरुगोविंद सिंह उद्यान का जीर्णोद्धार का कार्य प्रगति पर है।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned