नारियल की आड़ में चल रहा है प्रतिबंधित दवाइयों का कारोबार, जब्त की गई 17 लाख की नशीली दवाएं

नारियल की आड़ में चल रहा है प्रतिबंधित दवाइयों का कारोबार, जब्त की गई 17 लाख की नशीली दवाएं

Deepak Sahu | Publish: Dec, 01 2018 12:34:56 PM (IST) Mahasamund, Mahasamund, Chhattisgarh, India

ट्रक से करीब 17 लाख की नशीली कफ सिरप जब्त की गई।

महासमुंद. छत्तीसगढ़ में नारियल की आड़ में प्रतिबंधित कफ सिरप के कारोबार का पर्दाफाश कर पुलिस ने तीन आरोपी को ट्रक के साथ पकड़ा है। ट्रक से करीब 17 लाख की नशीली कफ सिरप जब्त की गई। इस घटना में दो आरोपी पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल हो गए।

पुलिस अधीक्षक वेदव्रत सिरमौर ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस की टीम NH-53 सिरपुर चेक पोस्ट पर वाहनों की चेकिंग कर रही थी। तभी सूचना मिली कि एक ट्रक में भारी मात्रा में कफ सिरप लोड है। ट्रक तेजी से पदमपुर ओडिशा की ओर जा रहा है। सूचना मिलते ही टीम ने सिरपुर चेक पोस्ट के पास ट्रक रोका। अंधेरे का फायदा उठाकर ट्रक में सवार दो लोग फरार हो गए। टीम ने जब ट्रक की तलाशी ली तो इसमें प्रतिबंधित कफ सिरप बरामद हुई। सिरप से संबंधित दस्तावेज मांगने पर ट्रक में सवार दोनों व्यक्ति दस्तावेज पेश नहीं कर पाए। आगे की पूछताछ में उन्होंने कफ सिरप डुमरतराई रायपुर के मेडिकल सुरेश रामानी (50) के यहां से लाना बताया। इसके बाद टीम सुरेश रामानी को रायपुर से गिरफ्तार कर लिया है।

रायपुर से 5 कार्टून कफ सिरप जब्त
एएसपी ने बताया कि चालक की निशानदेही पर सुरेश रामानी को गिरफ्तार कर उसकी औषधी वाटिका स्थित एक दुकान से सेम बेच की 5 कार्टून कुल 800 नग कफ सिरप बरामद की। जिसकी कीमत 84400 रुपए आंकी गई है। पुलिस ने विजय साहा, विरंची तराल एवं सुरेश रामानी को गिरफ्तार कर फरार दिनेश अग्रवाल एवं लक्ष्मी नारायण अग्रवाल की टीम तलाश कर रही है। उन्होंने बताया कि दिनेश अग्रवाल का लोहासिंघा में मेडिकल स्टोर्स है। वहीं लक्ष्मीनारायण अग्रवाल के खिलाफ ओडिशा के पदमपुर व जगदलपुर थाने में २-२ मामले दर्ज है।

ये हुए है गिरफ्तार
पुलिस ने घेराबंदी कर ट्रक चालक विजय साहा, विरंची तराल को हिरासत में लिया। टीम ने दोनों से पूछताछ की, तो बताया कि ट्रक में ग्राम लोहासिंघा जिला बलांगीर ओडिशा के दिनेश अग्रवाल और लक्ष्मीनारायण अग्रवाल भी थेे, जो फरार हो गए।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned