ऑनलाइन मिलेगा प्रश्नपत्र और कवर पेज, स्टूडेंट्स को ए-4 साइज की 32 पेज की काॅपी पर लिखना हाेंगे उत्तर

उत्तर पुस्तिका के लिए ए-4 साइज के पेपर के लिए भी छात्रों को जद्दोजहद करनी पड़ रही है। वहीं दूर-दराज के परीक्षार्थियों को स्पीड पोस्ट के लिए भी पैसे खर्च करने पड़ेंगे।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 21 Sep 2020, 03:02 PM IST

महासमुंद. पं. रविशंकर शुक्ल विवि के निर्देश आने के बाद से ही स्टेशनरी दुकानों में छात्रों की भीड़ उमड़ रही है। दुकान वाले भी उत्तर पुस्तिका की फोटो कॉपी करवा कर प्रति सेट 20 से 25 रुपए में बेच रहे हैं। ऐसे में जिन छात्रों के पेपर ज्यादा बचे हैं, उन्हें ज्यादा रुपए खर्च करने पड़ेंगे। उत्तर पुस्तिका के लिए ए-4 साइज के पेपर के लिए भी छात्रों को जद्दोजहद करनी पड़ रही है। वहीं दूर-दराज के परीक्षार्थियों को स्पीड पोस्ट के लिए भी पैसे खर्च करने पड़ेंगे।

गौरतलब है कि शनिवार को पं रविशंकर शुक्ल विवि ने परीक्षार्थियों के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं। परीक्षार्थियों को उत्तर पुस्तक के मुख्य पृष्ठ कवर पेज को विवि के वेबसाइट से डाउनलोड करना होगा। इसके साथ में ए-4 पेपर के आकार का पेपर स्टेपल करना होगा। इसी पेपर में उत्तर लिखा जाना है। इसके बाद से बाजार में भी डाउनलोड किए गए मुख्य पृष्ठ के कवर पेज भी मिल रहे हैं। दुकानदार में मुख्य पृष्ठ की कवर पेज सहित उत्तर पुस्तिका भी बना दी है।

छात्र संगठन ने परीक्षार्थियों से उत्तर पुस्तिकाओं के लिए ज्यादा पैसे लेने का विरोध भी किया। छात्र नेता नरेश नायक ने बताया कि दुकानदार छात्रों से वाजिब पैसे लें। जिन छात्रों के प्रश्न-पत्र ज्यादा बचे होंगे, उन्हें को ज्यादा खर्च करना होगा छात्रों एक प्रश्न-पत्र के लिए अधिकतम 32 पेज की उत्तर पुस्तिका में लिखने हैं। नरेश ने बताया कि विवि को हम फीस शुल्क दे चुके हैं, लेकिन छात्रों को फिर से पैसे लग रहे हैं। स्टेशनरी संचालक नोहर ने बताया कि छात्रों को समस्या न हो और एक ही जगह छात्रों को सबकुछ मिल जाए, इस वजह से प्रयास किया है।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned