जिन स्कूलों में शिक्षक पर्याप्त संख्या में पदस्थ, बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम आये बेहतर

Deepak Sahu

Publish: Apr, 17 2018 06:39:04 PM (IST)

Mahasamund, Chhattisgarh, India
जिन स्कूलों में शिक्षक पर्याप्त संख्या में पदस्थ, बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम आये बेहतर

शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत अधिक से अधिक बच्चों को प्रवेश दिलाया जाएगा इसके लिए विभाग के अधिकारियों को पहले से विशेष कार्ययोजना तैयार करने के निर्

महासमुंद. कलक्टर हिमशिखर गुप्ता ने जिला कार्यालय के सभाकक्ष में स्कूल शिक्षा विभाग के तहत संचालित सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन, डाइट एवं राष्ट्रीय साक्षरता मिशन के अधिकारियों की बैठक लेकर काम-काज की समीक्षा की।
कलक्टर ने बैठक में शिक्षा का अधिकार कानून, मध्यान्ह भोजन योजना, शाला गणवेश योजना, शाला कोष, बच्चों के जाति प्रमाण पत्र बनाने, स्मार्ट क्लास, अटल टिंकरिंग लैब, शाला त्यागी बच्चों की स्थिति, ज्ञान उत्थान, नवाचारी उपायों आदि योजनाओं का बेहतर से बेहतर क्रियान्वन करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

उन्होंने कहा आगामी शिक्षा सत्र 16 जून से प्रारंभ हो रहा है, जिसमें शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत अधिक से अधिक बच्चों को प्रवेश दिलाया जाएगा। इसके लिए विभाग के अधिकारियों को पहले से विशेष कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों में शिक्षक पर्याप्त संख्या में पदस्थ हैं, वहां के बोर्ड परीक्षाओं के परीक्षा परिणाम बेहतर आना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन स्कूलों में शिक्षक की कमी है, उन स्कूलों में गांव के पढ़े-लिखे युवा एवं स्वयं सेवकों, सेवानिवृत्त शिक्षकों की टीम तैयार करें, ताकि वे शिक्षकों की कमी होने पर विद्यार्थियों को पढ़ाने में सहयोग कर सकें।

बैठक में नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार कानून के प्रावधानों के बारे में जानकारी देने के साथ-साथ प्रावधानों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलक्टर ने कहा कि स्कूलों में विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं एवं अन्य गतिविधियों से जोडऩे के लिए कॅरियर काउंसिलिंग कराने तथा विद्यार्थियों को उनके रुचि के अनुसार किस क्षेत्र की ओर बढऩा है, उसके बारे में जानकारी देने को कहा।

स्कूलों में पालक एवं शिक्षकों की अनिवार्य रूप से बैठक कराने को भी कहा। उन्होंने संकुल अनुसार कक्षा पांचवीं के उत्तीर्ण विद्यार्थी जो कक्षा 6वीं में किन स्कूलों में प्रवेश लिए है, उसकी जानकारी घर-घर जाकर 15 जून से पहले सर्वे करने के निर्देश दिए।


शिक्षा प्रक्रिया में सुधार के लिए एक्शन प्लान
शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि ग्रीष्म अवकाश में स्कूलों में मध्यान्ह भोजन के दौरान प्राथमिक स्तर के विद्यार्थियों को पर्यावरण, गणित तथा भाषा के ज्ञान के बारे में जानकारी दी जाएगी। उच्च प्राथमिक शालाओं में आधा-आधा घंटा भाषा, गणित, विज्ञान व सामाजिक विज्ञान पढ़ाया जाएगा।

शिक्षा सत्र शुरू होने पर प्रत्येक कक्षा की उपलब्धि स्तर की जांच की जाएगी तथा उसके आधार पर शिक्षण की योजना तैयार की जाएगी। अधिकारियों ने बताया बच्चों की पढ़ाई स्तर में सुधार लाने के लिए ज्ञान उत्थान अभियान को निरंतर जारी रखा जाएगा। कक्षाओं में शिक्षा प्रक्रियाओं में सुधार लाने के लिए एक्शन प्लान बनाए गए है ।

Ad Block is Banned