डकैती की योजना बनाते अंतरराज्यीय गिरोह के सात लोग गिरफ्तार, 2 आरोपी फरार

महासमुंद जिले (Mahasamund District) की पुलिस ने डकैती की योजना बनाते मध्य प्रदेश उड़ीसा के सात अंतराज्यीय गिरोह के सात लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि दो आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।

By: Ashish Gupta

Published: 12 Jul 2020, 11:55 PM IST

महासमुंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले (Mahasamund District) की पुलिस ने डकैती की योजना बनाते मध्य प्रदेश उड़ीसा के सात अंतराज्यीय गिरोह के सात लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि दो आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। आरोपियों के पास से एक माउजर व देसी कट्टा सहित वारदात में प्रयुक्त होने वाले भारी सामान बरामद किए गए हैं। सभी के खिलाफ सरायपाली पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना में लिया है। बताया जाता है कि एमपी के एसटीएफ ने आरोपियों के हत्या सहित अन्य वारदात में शामिल होने की पुष्टि की है।

आज रविवार की शाम पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने कंट्रोल रूम में इस मामले का खुलासा करते हुए बताया कि बीती रात सिंघोडा थाना के नाका के पास उड़ीसा की ओर से एक स्कॉर्पियो में सवार लोगों को संदेह के आधार पर रोका गया। लेकिन वह बैरिकेडिंग तोड़कर सरायपाली की ओर भागने लगे। बाद इसके उनका पीछा कर उन्हें पकड़ा गया।

पूछताछ में आरोपियों ने सोनू वाल्मीकि मध्य प्रदेश, कुरुध्वज पांडे ओडिशा, मोहम्मद अनीस मध्य प्रदेश, जावेद उर्फ गोलू मध्य प्रदेश, इस्माइल खान मध्य प्रदेश, बृजमोहन ठाकुर मध्य प्रदेश सौदान भिलाला मध्य प्रदेश बताया है। जबकि फरार आरोपियों में शाजापुर मध्य प्रदेश के विनोद व अर्जुन बताए जा रहे हैं। पुलिस ने आरोपियों के पास से एक लग्जरी स्कॉर्पियो, ट्रक, एक देसी कट्टा, जिंदा कारतूस, एक ऑटोमेटिक पिस्टल, कारतूस चोरी किए गए डेढ़ सौ लीटर डीजल सहित अन्य सामान बरामद किए हैं।

महासमुंद के एसपी ठाकुर ने बताया कि आरोपी मध्यप्रदेश में दो घटनाओं को अंजाम देना स्वीकार किया है। जिसमें डीजल चोरी के दौरान एक युवक की हत्या का मामला भी शामिल है। एसपी के मुताबिक आरोपी यहां किसी पेट्रोल पंप या फिर किसी मालदार पार्टी के घर में डकैती डालने की योजना बना रहे थे। किसी बड़ी वारदात को अंजाम देते इससे पहले पुलिस ने उन्हें धर दबोचा।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned