11 वीं की छात्रा बनी एक दिन की शहर कोतवाल, अव्यवस्थाओं पर जताई नाराजगी

- एक दिन का प्रभारी बनने के बाद बेटियां काफी उत्साहित दिखीं

By: Neeraj Patel

Published: 20 Nov 2020, 04:09 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
महोबा. प्रदेश में बढ़ते महिला अपराधों पर लगाम लगाने को लेकर शासन के मिशन शक्ति के बाद अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस पर बेटियों को एक दिन के लिए थानों की कमान सौपी है। महोबा जिले के सभी थानों में प्रभारी नियुक्त होने के बाद सदर कोतवाली में कोतवाल बनी छात्रा ने सीओ सिटी कालू सिंह के साथ थाना परिसर का भ्रमण किया। साथ ही यातायात व बैक व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जिले के सभी थानों में एक दिन का प्रभारी बनने के बाद बेटियां काफी उत्साहित दिखाई दे रही हैं।

महिलाओं और किशोरियों के मन से डर और झिझक दूर करने के लिए प्रदेश सरकार की इस अनोखी पहल का नजारा महोबा में भी देखने को मिला। महोबा शहर कोतवाली में सीओ सिटी कालू सिंह के द्वारा जीजीआईसी में 11 वी की छात्रा यशस्वी तिवारी को थाना प्रभारी की बड़ी जिम्मेवारी मिली। इंस्पेक्टर बनने के बाद सिर पर खाकी टोपी पहने एक दिन की शहर कोतवाल ने बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए महिला अपराधों पर अंकुश लगाए जाने को प्राथमिकता दी है।

वाहनों की आवाजाही पर नाराजगी की जाहिर

थाना परिसर का निरीक्षण करने के बाद एक दिन की इंस्पेक्टर यशस्वी तिवारी को शहर का भ्रमण करने के दौरान काफी अव्यवस्थाओं का सामना करना पड़ा है। नो एंट्री में छोटे बड़े वाहनों की आवाजाही पर नाराजगी जाहिर की है। चार पहिया वाहन चालक को डांटते हुए गाड़ी वापिस ले जाने की बात कही है। शहर की प्रमुख सड़को पर लापरवाही से खड़े वाहन स्वामियों को हिदायत दी।

एक दिन की कोतवाली प्रभारी यशस्वी तिवारी ने बताया कि महिलाओं पर बढ़ते अपराध पर नियंत्रण रखना ही हमारी पहली प्राथमिकता है। महोबा शहर में स्काउट गाइड की छात्रा को एक दिन का शहर कोतवाल बनने के बाद सड़को पर यशस्वी को देखने के लोगो की भारी भीड़ एकजुट हो गई। सीओ सिटी कालू सिंह ने बताया कि यूनिसेफ के निर्देश पर मिशन शक्ति के तहत इस बेटी को विश्व वाल दिवस के मौके पर शहर कोतवाल नियुक्त किया गया है।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned