बड़ी खबर: इंजीनियरिंग छात्र की मौत के मामले में 7 पुलिसकर्मियों को हुई जेल

बड़ी खबर: इंजीनियरिंग छात्र की मौत के मामले में 7 पुलिसकर्मियों को हुई जेल
up police

Shatrudhan Gupta | Updated: 13 Dec 2017, 09:23:12 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

यूपी पुलिस के सात आरक्षियों को बुधवार को जेल भेज दिया। इनमें पांच महिला आरक्षी भी शामिल हैं।

महोबा. उत्तर प्रदेश के महोबा जिले की एक अदालत ने बिहार के रहने वाले बहुचर्चित इंजीनियरिग छात्र के हत्याकांड में यूपी पुलिस के सात आरक्षियों को बुधवार को जेल भेज दिया। इनमें पांच महिला आरक्षी भी शामिल हैं। आपको बता दें कि 24 अगस्त 2017 को झांसी से हाबड़ा की ओर जा रही चंबल एक्सप्रेस ट्रेन में घटित घटना में बिहार के निवासी इंजीनियरिंग छात्र राहुल की मऊरानीपुर स्टेशन के निकट संदिग्ध परिस्थितियों में गाड़ी से नीचे गिर जाने पर मौत हो गई थी। आरोप है कि यात्रियों से की जा रही अवैध वसूली को अपने कैमरे में कैद कर वीडियो बना लेने पर रेलवे पुलिस के आरक्षियों ने छात्र को मारपीट करते हुए ट्रेन से बाहर फेंक दिया था, जिस कारण उसकी मौत हो गई थी।

भाजपा के एक बड़े नेता से मामला जुड़ा था

बिहार भाजपा के एक बड़े नेता से मामला जुड़ा होने के कारण तूल पकड़ गया। पोस्टमार्टम के दौरान मृतक का मोबाइल फोन बरामद होने और उसमें रिकॉर्ड वीडियो वायरल होने पर रेलवे पुलिस की करतूतों की पोल खुल गई। राहुल के साथ ही ट्रेन में यात्रा कर रहे एक अधिवक्ता कुलदीप शर्मा ने मामले में उच्च न्यायालय में शिकायत दर्ज कराई थी। आपको बता दें कि उच्च न्यायालय इलाहाबाद के हस्तक्षेप पर इस घटना का मुकदमा रेलवे पुलिस ने पिछले दिनों दर्ज किया। मामले की जांच में विवेचना के दौरान आरपीएफ के आरक्षी राजकुमार गुर्जर, संतराम मीणा, रेखा शुक्ला, अर्चना सिंह, पिंकी यादव, मुकेश मीणा, आशा देकाढे तथा टीटी मुकेश गुप्ता को गैर इरादतन हत्या का दोषी पाया गया। इसके बाद आराक्षियों ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नवीन कुमार की अदालत में सरेंडर करते हुए जमानत की अर्जी पेश की, परंतु मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायाधीश ने सभी मुल्जिमों को न्यायिक अभिरक्षा में लेकर जेल भेज दिया। टीटी मुकेश कुमार अभी फरार है।

ये था पूरा मामला

झांसी के मऊरानीपुर के चंबल एक्सप्रेस में पुलिस वाले सवारियों से अवैध वसूली और एक महिला पुलिसकर्मी से अश्लील हरकत कर रहे थे। इसी ट्रेन में सफर कर रहे बिहार निवासी इंजीनियरिंग छात्र राहुल ने अपने मोबाइल से विडियो बना ली। यह देख आपे से बाहर हुए पुलिस वालों ने राहुल को पहले जमकर पीटा, फिर टे्रन से बाहर फेंक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई थी। युवक के परिजनों ने इस मामले में महोबा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। घटना की जानकारी ट्वीट करके परिजनों ने रेलमंत्री को दी। जानकारी के अनुसार 22 वर्षीय राहुल सिंह पुत्र संजय सिंह निवासी ग्राम मुखरी थाना मोहनियां चंबल एक्सप्रेस में दिल्ली से वाराणसी के लिए यात्रा करते समय गुरुवार शाम पांच बजे मऊरानीपुर स्टेशन से कुछ दूरी पहले ग्राम पचौरा के पास ट्रेन से गिर गया।

सूचना पर रेलवे पुलिस ने कोतवाली पुलिस के सहयोग से गेट नंबर 33 के पास गंभीर हालत में पड़े राहुल को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पुलिस द्वारा बिहार में उसके परिजनों को दी गई तथा शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सूचना पाकर मृतक के चाचा शत्रुंजय कुमार सिंह, उनके साथी धर्मेंद्र सिंह निवासीगण ग्राम मुखरी थाना मोहनिया जिला कैमूर बिहार मऊरानीपुर पहुंचे। उन्होंने ट्रेन में यात्रा कर राहुल के सहयात्रियों के हवाले से पुलिस को बताया कि चंबल एक्सप्रेस ट्रेन में पांच सिपाही और तीन महिला सिपाही सुरक्षा के तहत चल रहे थे, जो ट्रेन में सामान बेचने वालों और बिना टिकट यात्रियों से टीटी की उपस्थिति में ही अवैध वसूली कर रहे थे, जिसका वीडियो राहुल अपने मोबाइल से बना रहा था। इसी दौरान एक पुलिसवाले ने उसे ऐसा करते हुए देख लियाए जिसपर सभी पुलिसवालों ने सारी हदें पार करते हुए राहुल की निर्मम तरीके से पिटाई की। राहुल से उसका जूता निकलवाया और यात्रियों के बार-बार मना करने के बाद भी निर्ममतापूर्वक जूतों से पीटा। महिला यात्रियों के साथ अश्लील हरकतें करने के झूठे मामले में फँसाने की धमकी दी। जब इससे भी उनका मन नहीं भरा तो चलती ट्रेन से राहुल को फेंक दिया। दिल्ली से वाराणसी की यात्रा कर रहे राहुल की जेब से मऊरानीपुर पुलिस को 42 सौ रुपए तो मिले, लेकिन उसके गले की सोने की चेन, ब्रेसलेट, मोबाइल और बैग नहीं मिला था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned