धार्मिक समारोह में प्रसाद में बिरयानी खिलाने का आरोप, 43 के खिलाफ FIR दर्ज

महोबा में चरखारी कोतवाली क्षेत्र के सालट में तीन दिन पूर्व पीर बाबा के उर्स में 13 गांवों के ग्रामीणों को प्रसाद में बिरयानी खिलाने के मामले ने और तूल पकड़ लिया है।

महोबा. महोबा में चरखारी कोतवाली क्षेत्र के सालट में तीन दिन पूर्व पीर बाबा के उर्स में 13 गांवों के ग्रामीणों को प्रसाद में बिरयानी खिलाने के मामले ने और तूल पकड़ लिया है। बीजेपी विधायक ने पीर बाबा की मजार को फर्जी करार देते हुए जानबूझकर मांसाहारी बिरयानी खिलाने आरोप लगाया है। इस मामले में आलाधिकारियों से रिपोर्ट तलब की गयी है।

मामले में पुलिस ने 23 नामजद समेत 43 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। चरखारी कोतवाली में कल्लू, शहादत, छुट्टन, रमजान, रशीद, मुन्ना, पप्पू, मजीद, नजीर, कमरुद्दीन, हजरत, बशीर, राजू, अंसार, अकरम, साबिर, शरीफ, समीम, यूनुस, यूसुफ निवासी गण स्वासामाफ, भूरा और मुन्ना निवासी लाड़पुर के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित कुछ अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है।


13 गांव के लोग एकत्र
बीजेपी के चरखारी विधायक बृजभूषण राजपूत ने कहा है कल्लू मियां ने छल से ग्रामीणों को मांसाहारी बिरयानी खिलाई। गौरतलब है कि कल्लू काजी ने गांव के बाहर बनी पीर बाबा की मजार पर उर्स का आयोजन बीते शनिवार को किया था। उर्स में आसपास के करीब 13 गांवों के लोग एकत्र हुए थे। ग्रामीणों का आरोप है कि उर्स के आयोजन के बाद कल्लू काजी ने सैकड़ों ग्रामीणों की भावनाओं से खिलवाड़ कर प्रसाद में धोखा देकर मांसाहारी बिरयानी खिला दी।


महिलाओं के साथ शोषण
गांव में इस मामले को लेकर पंचायत हुई। तब कल्लू काजी को गंगा स्नान के लिए 50 हजार का जुर्माना लगाया गया था। मामला शांत हो गया था। लेकिन,चरखारी विधायक जब गांव पहुंचे तो उन्होंने आरोपी के खिलाफ कठोर कार्यवाही किये जाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। चरखारी विधायक ने मजार को फर्जी बताते हुए कहा कि मजार में झाडफ़ूंक के नाम पर महिलाओं का शोषण होता है। उन्होंने कहा कि देश की सभी मजारों की जांच होनी चाहिए। विधायक ब्रजभूषण राजपूत ने कहा कि हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया गया है।


सालों से होता है उर्स
ग्रामीण बताते हैं कि हर साल की तरह इस वर्ष भी मजार पर उर्स हुआ । मगर उन्हें प्रसाद में मांसाहारी बिरयानी खिलाई गयी। जिससे उनका धर्म भ्रष्ट हो गया। महोबा राठ ,पनवाड़ी ओर कुलपहाड़ के अल्पसंख्यक परिवारों ने धार्मिक कार्यक्रम के आयोजन के बाद उर्स में शामिल सभी लोगों को प्रसाद में बिरयानी खिलाकर हिन्दू धर्म से खिलवाड़ किया है। ऐसे आरोपियों के खिलाफ 8 दिन में सख्त कार्रवाई की मांग की गयी है। दूसरी तरफ गांव के अधिकतर मुस्लिम मर्द दहशत में हैं। और उन्होंने गांव छोड़ दिया है।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned