टीनएजर्स इश्कजादों ने उम्र पूछने के बाद थाने के अंदर किया खौफनाक काम

महोबा की प्रेम कहानी ने खाकी वर्दी को किया बेहाल, मैनेज करने में जुटे अफसर

महोबा. इश्क पर पहरा गहराया तो दोनों के सामने चौखट को लांघकर भागना की एकमात्र रास्ता था। मोहब्बत को रिश्तेदारी में शरण नहीं मिली, ऐसे में इधर-उधर भटकते हुए आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गए। वर्दी वाले दोनों को लेकर थाने पहुंचे तो तन्हाई मिलते ही प्रेमी युगल ने कुछ ऐसा किया कि दोनों की तबीयत बिगडऩे लगी। यह देखकर खाकी वर्दी के हाथ-पैर फूल गए। आनन-फानन में दोनों के परिजनों को बुलवाकर अस्पताल भेजा गया है। आशंका है कि इश्क मुकम्मल नहीं होने की स्थिति और परिजनों के सामने आने पर जलील होने के डर से दोनों ने जहर खाया है।


पड़ोसी के रिश्तेदार से चल रहा था प्रेम प्रसंग

मामला कुलपहाड़ इलाके के एक गांव का है, जहां टीनएजर लड़की का पड़ोसी के रिश्तेदार से इश्क है। प्रेमिका का घर यूपी में है, जबकि प्रेमी पड़ोसी मध्यप्रदेश के हरपालपुर इलाके के जोरन गांव का बाशिंदा है। इश्क परवान चढ़ा तो प्रेमी भी काम-धंधे की बात कहकर रिश्तेदार के घर रहने लगा था। चर्चा है कि अक्सर ही दोनों गांव के बाहर गुपचुप ुिमलते थे। मोहब्बत की कहानी गूंजने लगी तो दोनों के परिजनों ने पहरा बढ़ा दिया। ऐसे में प्रेमी युगल ने घर से भागकर शादी करने का फैसला कर लिया। फिर 24 मई की सुबह लगभग 8 बजे से टीनएजर लड़की और पड़ोस में रहने वाला नौजवान गायब हो गए। लडकी के पिता ने पड़ोसी के रिश्तेदार पर संदेह जताते हुए बेटी को बहला-फुसलाकर भगाने की रिपोर्ट भी लिखाई। पुलिस ने मोबाइल सर्विलांस पर लगाए तो युगल की लोकशन मध्यप्रदेश में मिली थी।


मध्यप्रदेश से पकड़ लाई थी पुलिस, उम्र पूछने पर बढ़ी टेंशन

मध्यप्रदेश में लोकशन मिलने के बाद पुलिस टीम ने वहां जाकर प्रेमी युगल को पकड़ लिया था और बीती रात कुलपहाड़ थाने लेकर आई थी। पुलिस टीम ने दोनों से कुछ सवाल-जवाब किए। दोनों ने मर्जी से साथ रहने की बात बताई तो पुलिस ने उम्र के दस्तावेज के आधार पर फैसले की बात सुनाई। इसके बाद दोनों को अकेले छोड़ दिया गया। कुछ देर बाद प्रेमी-प्रेमिका की स्थिति बिगडऩे लगी। तेज उल्टियां होने पर पुलिस ने पूछा तो बताया कि जहर गटक लिया है। इसके बाद आनन-फानन में दोनों के घर वालों को बुलाकर सीएचसी भेजा गया, जहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।


खतरे से बाहर हैं प्रेमी युगल, शादी का फैसला अभी नहीं

जिला अस्पताल की इमरजेंसी ड्यूटी में तैनात ईएमओ डॉ. एके सक्सेना ने कहा है कि सीएचसी से संदिग्ध प्वाइजिनिंग केस रेफर होकर आए थे। किसी टेबलेट खाने की आशंका है, फिलहाल लड़का और लड़की की हालत चिंता से बाहर है। उल्टी से कमजोरी होने के कारण दोनों को ड्रिप चढ़ाई गई है। फिजीशियन डॉ. केडी गुप्ता के आने पर दोनों का एक बार फिर परीक्षण के बाद उन्हें डिस्चार्ज करने का फैसला लिया जाएगा। इस मामले में एसपी मणिलाल पाटीदार ने बताया कि थाने में जहर खाने जैसा मामला नहीं है। लापता हुई लड़की के पिता की शिकायत पर परिजनों को साथ लेकर पुलिस दोनों को पकड़कर लाई थी। थाने पर भी उनके घर वाले भी मौजूद थे, जहां दोनों ने एक साथ पेट दर्द की बात बताई थी। इसके बाद परिजनों के कहने पर पुलिस पहले सीएचसी ले गई, इसके बाद आग्रह पर दोनों को जिला अस्पताल भेजा गया। अस्पताल में घर के लोगों ने ही उन्हें भर्ती कराया है। दोनों की हालत ठीक है।

आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned