दिवाली के दिन ताऊ ने भतीजे की कर दी हत्या, भाई को भी किया घायल

दिवाली के दिन महोबा में जमीनी विवाद के चलते रिश्तों के कत्ल कर दिया गया।

By: Abhishek Gupta

Published: 15 Nov 2020, 07:52 PM IST

महोबा. दिवाली के दिन महोबा में जमीनी विवाद के चलते रिश्तों के कत्ल कर दिया गया। जमीन के एक टुकड़े के लिए ताऊ ने अपने ही भतीजे की धारधार हथियार से काटकर निर्मम हत्या कर दी। वहीं सगे भाई को भी मारपीट कर घायल कर दिया है। घटना के बाद से हत्यारे ताऊ सहित सात आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है, वहीं घायल की हालत नाजुक होने पर उसे झांसी रेफर कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें- उपचुनाव में करारी हार के बाद मायावती का बड़ा कदम, बदल डाला प्रदेश अध्यक्ष, इन्हें दी जिम्मेदारी

यह पूरा मामला कुलपहाड़ कोतवाली क्षेत्र के विजयपुर अंडवारा गांव का है, जहां रहने वाला नरपत का अपने ही बड़े भाई करोड़ीलाल से जमीन बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था। लेकिन किसी ने ये नहीं सोचा था कि जमीनी विवाद रिश्तों के कत्ल में तब्दील हो जाएगा। दीपावली पर्व की खुशियों के बीच दोनों ही भाई जमीनी विवाद को लेकर एक दूसरे से उलझ पड़े। आरोप है कि करोड़ीलाल ने अपने परिवार के तकरीबन 7 लोगों के साथ मिलकर नरपत पर लाठी-डंडों और फ़रसों से हमला बोल दिया। पिता पर जानलेवा हमला होता देख 30 वर्षीय नरेंद्र ने बीच-बचाव करने की कोशिश की, तो ताऊ ने भतीजे को ही धारदार फरसे से प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया।

ये भी पढ़ें- उपचुनाव में हार के बाद इस नेता ने बाएं बसपा का साथ, पार्टी पर लगाया मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया

दिनदहाड़े हुई इस हत्या से पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया। सूचना मिलते ही कुलपहाड़ कोतवाली पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई, वही घायल नरपत को इलाज के लिए महोबा जिला अस्पताल भेजा गया है। जहां इमरजेंसी वार्ड में प्राथमिक उपचार के बाद उसे झांसी रेफर कर दिया गया।

वहीं पुलिस ने मृतक नरेंद्र का शव कब्जे में लेकर उसका पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए मुख्यालय भेज दिया है। दिनदहाड़े हत्या को लेकर पुलिस ने तत्काल हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए दबिश शुरू कर दी है। पुलिस की दो टीमों को हत्यारे ताऊ सहित अन्य हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned