scriptUP Government to Sack IPS Manilal Patidar Summoned Report | एक लाख के इनामी आईपीएस मणिलाल पाटीदार को बर्खास्त करने की तैयारी | Patrika News

एक लाख के इनामी आईपीएस मणिलाल पाटीदार को बर्खास्त करने की तैयारी

UP Government to Sack IPS Manilal Patidar Summoned Report- यूपी के महोबा में कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी की मौत के आरोपी आईपीएस मणिलाल पाटीदार को योगी सरकार ने बर्खास्त करने की तैयारी कर ली है। मणिलाल पाटीदार भ्रष्टाचार के मामले में पिछले एक साल से फरार चल रहे हैं। आईपीएस पर एक लाख का इनाम घोषित है। उनके खिलाफ चल रही विजिलेंस जांच में वे दोषी पाए गए हैं।

महोबा

Published: October 29, 2021 05:20:45 pm

महोबा. UP Government to Sack IPS Manilal Patidar Summoned Report. यूपी के महोबा में कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी की मौत के आरोपी आईपीएस मणिलाल पाटीदार को योगी सरकार ने बर्खास्त करने की तैयारी कर ली है। मणिलाल पाटीदार भ्रष्टाचार के मामले में पिछले एक साल से फरार चल रहे हैं। आईपीएस पर एक लाख का इनाम घोषित है। उनके खिलाफ चल रही विजिलेंस जांच में वे दोषी पाए गए हैं। मामले की जांच मेरठ आईजी प्रवीण कुमार कर रहे हैं। जांच पूरी कर ली गई है और शासन को रिपोर्ट भेजी गई है। बता दें कि एक लाख के इनामी आईपीएस ऑफिसर मणिलाल पाटीदार महोबा के पुलिस अधीक्षक रहे हैं।
UP Government to Sack IPS Manilal Patidar Summoned Report
UP Government to Sack IPS Manilal Patidar Summoned Report
सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था वीडियो

महोबा जिले के कबरई कस्बे को पत्थर नगरी और क्रशर मंडी के लिए जाना जाता है। जहां पर तीन सैकड़ा से अधिक क्रशर इकाइयां लगी हुई हैं। कबरई से उत्तर प्रदेश के अलावा मध्यप्रदेश के भी तमाम शहरों में गिट्टी की आपूर्ति की जाती है, जिससे यहां करोड़ों रुपयों का कारोबार होता है। यही करोड़ों की कमाई पर राजनीतिज्ञों से लेकर अधिकारियों , कर्मचारियों की नजरें रहती हैं।
महोबा के क्रेशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने 07 सितंबर, 2020 को अपनी कार में खुद को गोली मार ली थी। उपचार के दौरान 13 सितंबर को उनकी मौत हो गई। खुद को गोली मारने से पहले इंद्रकांत ने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट की थी जिसमें उन्होंने आईपीएस मणिलाल पाटीदार पर गंभीर आरोप लगाए थे। आरोपों के अनुसार, मणिलाल पाटीदार उनसे छह लाख रुपये महीना रंगदारी मांग रहे थे। पैसा नहीं देने पर छापे मारकर और मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की धमकी दी जा रही थी। मृतक के भाई रविकांत त्रिपाठी ने वांटेड आईपीएस के खिलाफ तहरीर दी थी।
रविकांत त्रिपाठी की तहरीर पर वांटेड आईपीएस मणिपाल पाटीदार, एसओ समेत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में एसआईअी से जांच कराई गई, जिसके बाद सिपाही अरुण कुमार यादव का नाम बढ़ाया गया। आईपीएस मणिलाल पाटीदार के खिलाफ भ्रष्टाचार का मुकदमा भी दर्ज है। इस मामले में विजिलेंस की कानपुर यूनिट जांच कर रही है। हालांकि, बयान दर्ज न हो पाने की वजह से जांच अधर में है। मुकदमा दर्ज होते ही मणिलाल पाटीदार फरार हैं।
मणिलाल पाटीदार चला रहे थे वसूली गैंग

विजिसेंस टीम ने अपनी जांच में पाया है कि फरार आईपीएस मणिलाल पाटीदार सिंडीकेट बनाकर धन उगाही कर रहा था। पाटीदार ने अपनी गैंग में तीन दर्जन से अधिक पुलिसकर्मियों को शामिल कर रखा था। यह अपना रौब दिखाकर लोगों से वसूली करते थे। इसके अलावा मणिलाल पर ट्रकों की वसूली पर दो लाख रुपये प्रति माह मांगने व 40 पुलिसकर्मियों के माध्यम से एसपी वसूली गैंग चलाने का भी आरोप है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामUP Assembly Election 2022: योगी इफेक्ट को रोकने के लिए पूर्वांचल की इस सीट से चुनाव लड़ेंगे अखिलेश?बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत बीजेपी में होंगे शामिल, उत्तराखंड से लड़ सकते हैं चुनावगोवा में अमित पालेकर होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, अरविंद केजरीवाल ने किया ऐलान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.