एक तरफ़ा प्यारा में पागल युवक की दबंगई, विवाहिता के मासूम पूत का किया अपहरण

एक तरफ़ा प्यारा में पागल युवक की दबंगई, विवाहिता के मासूम पूत का किया अपहरण

Mahendra Pratap | Publish: Mar, 14 2018 04:25:04 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सरकार बनते ही एंटी रोमियों स्क्वाड बनाकर महिला सुरक्षा के लाख दावें किये गए थे मगर महोबा में एक विवाहिता दबंगों की करतूत से खासी परेशान है।

महोबा. सरकार बनते ही एंटी रोमियों स्क्वाड बनाकर महिला सुरक्षा के लाख दावें किये गए थे। मगर महोबा में एक विवाहिता दबंगों की करतूत से खासी परेशान है। न्याय के लिए पुलिस अधिकारीयों के चक्कर लगा रही है। एक तरफा प्रेम का ये अनूठा मामला कुलपहाड़ कसबे का है। पहले दबंग ने युवती के साथ छेड़छाड़ की यहीं नहीं जबरन अपनाने के लिए युवती को धमकियां भी दी। लेकिन युवती जब उसके झांसे में न आयी तो दबंग ने युवती के पांच साल के बच्चे को अगवाकर उस पर दबाब बनाना चाहा। युवती अपनी और बच्चे की सुरक्षा के लिए पुलिस से न्याय की गुहार लगाते घूम रही है जबकि आरोपी अब तक पुलिस की पकड़ से दूर है।

एंटी रोमियों स्क्वाड बेमतलब साबित हो रही

प्रदेश में बीजेपी महिला सुरक्षा के मुद्दे पर सरकार बनाने में कामयाब हुई थी और महिला सुरक्षा के लिए एंटी रोमियों स्क्वाड बनाया गया। मगर ये एंटी रोमियों स्क्वाड महोबा जनपद में बेमतलब साबित हो रहा है। दरअसल जिले के कुलपहाड़ कोतवाली क्षेत्र के किशोरगंज मुहल्ले में रीता अपने चार वर्षीय बच्चे के साथ रह रही थी। रीता का आरोप है कि पड़ोस में ही रहने वाला दबंग पुष्पेंद्र परिहार उस पर पिछले एक वर्ष से गलत निगाह रखता है और उसके साथ कई बार छेड़छाड़ भी कर चुका है।

बच्चे का किया अपहरण

एक तरफ़ा प्यार में पागल पुष्पेंद्र विवाहित रीता को पाने के लिए उसे कई बार धमका चूका है। जिसका मुकदमा रीता ने पुलिस में दर्ज कराया था। जिसके बाद से पुष्पेंद्र और उसके पिता सहित दो अन्य भाई उससे दुश्मनी मानने लगे थे। बीते रोज जब रीता का चार वर्षीय पुत्र दिव्यांश घर के बाहर खेल रहा था तभी उसका अपहरण हो गया और कई घण्टे के बाद वो बिहोश की हालत में घर के पास ही पड़ा मिला।

पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

रीता बताती है कि उसके बच्चे का अपहरण मकान मालिक रामबाबू तिवारी ने किया था। ये बात उसके बच्चे ने होश में आकर अपनी मां को बताई। रीता का आरोप है कि उस पर पुराना मुकदमा वापस लेने का दबाब बनाने के लिए मकान मालिक के साथ मिलकर पुष्पेंद्र परिहार ने ये साजिश की थी। उसे अपने बच्चे के साथ परिवार की जान का खतरा भी सता रहा है। इस मामले में पीड़ित ने कोतवाली कुलपहाड़ में शिकायत की मगर यहां पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कार्यवाही करना तो दूर उसे पकड़ छोड़ तक दिया। पुलिस ने इस पूरे घटनाक्रम में कार्यवाही की जगह पर्दा डाल रखा। पुलिस दबंगों पर कार्यवाही से कतरा रही है ऐसे उसका पूरा परिवार दहशत में रहने को मजबूर है।

आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखा गया

आखिरकार पीड़िता अपने मासूम बच्चे और मां के साथ न्याय के लिए एसपी की चौखट पर पहुंची। जहां एसपी एन० कोलांचि के निर्देश पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में एसपी एन० कोलांचि ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखा गया है। मामले को लेकर जांच की जा रही है। दोषियों को दोषी पाए जाने पर आगे कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

ये खबर एंटी रोमियों स्क्वाड की जमीनी हकीकत को कर रही उजागर

बहरहाल सूबे की सरकार महिला उत्पीड़न रोकने के लाख दावें कर रही है मगर महोबा की ये खबर एंटी रोमियों स्क्वाड की जमीनी हकीकत को भी उजागर कर रही है। अब देखना यह है कि पुलिस इस मामले में युवती को कब तक न्याय दिला पाती है !

Ad Block is Banned