मानदेय नहीं बढ़ने से नाराज आंगनबाड़ी वर्करों का अनोखा प्रदर्शन, सरकार को दी यह चेतावनी

Akhilesh Tripathi

Publish: Oct, 13 2017 10:03:49 (IST)

Maharajganj, Uttar Pradesh, India
मानदेय नहीं बढ़ने से नाराज आंगनबाड़ी वर्करों का अनोखा प्रदर्शन, सरकार को दी यह चेतावनी

आंगनबाड़ी वर्करों ने कहा कि सरकार की उदासीनता का जवाब लोक सभा चुनाव में दिया जाएगा।

महाराजगंज. गुरूवार को अनिश्चिकालीन हड़ताल के 26वें दिन आंगनबाड़ी वर्करों ने झांसी की रानी का भेष धारणकर प्रदर्शन किया। आंगनबाड़ी वर्करों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। आक्रोशत आंगनबाड़ी वर्करों ने कहा कि प्रदर्शन के माध्यम से सरकार को चेतावनी दी गई है कि मानदेय नहीं बढ़ा तो आन्दोलन तेज होगा। अनिश्चितकालीन हडताल हुए 26 दिन हो चुके हैं लेकिन सरकार द्वारा सकारात्मक पहल नहीं हुआ।

 

कलेक्ट्रेट के सामने धरना दे रहे आंगनबाडी वर्करों ने झांसी की रानी जैसे वेशभूषा धारण कर प्रदर्शन किया। जिला अस्पताल के रास्ते प्रदर्शन करते हुए फिर सभी वर्कर कलेक्ट्रेट के सामने पहुंचे। आंगनबाड़ी वर्करों ने कहा कि सरकार की उदासीनता का जवाब लोक सभा चुनाव में दिया जाएगा। बीते कई दिनों से सभी वर्कर विविध प्रकार से विरोध प्रदर्शन कर आवाज बुलंद कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान सरकार विरोधी नारे जमकर लगाए गए।

 

यह भी पढ़ें:

वाराणसी महापौर की सीट ओबीसी महिला के लिए आरक्षित, जानिए निकाय चुनाव में आपके जिले की कौन सी सीट है आरक्षित

 

 

जिलाध्यक्ष छाया भारती ने कहा कि सरकार को आंगनबाड़ी हित की जरा भी चिंता नहीं है। आन्दोलन को 26 दिन हो चुके हैं, लेकिन सरकार खामोश है। यह आन्दोलन अब थमने वाला नहीं है। जब तक सरकार मानदेय नहीं बढ़ाएगी तब तक आन्दोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि पता नहीं किन कारणों ने सरकार इस मसले पर गंभीर नहीं है। सरकार की ओर से संचालित सभी योजनाओं के क्रियान्वयन में आंगनबाड़ी वर्करों का अहम योगदान होता है। बावजूद इसके मांगों का पूरा करने में देरी की जा रही है।

 

इस दौरान जिलासंरक्षक राधेश्याम मौर्य, राजदुलारी, रिना पटेल, माधवी, उपासना, अम्बालिका, सरोज देवी, ज्ञानमति देवी, शोभा यादव, पूनम, नाजमा, सावित्री देवी के अलावा तमाम वर्कर मौजूद रहे।

 

 

शिक्षक कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन बहाली की मांग की

अटेवा पेंशन बचाओ मंच की ओर से नगर में न्यू पेंशन स्कीम की प्रतिकात्मक शव निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया गया। नगर के सक्सेना चौक पर शिक्षक कर्मचारी शव यात्रा लेकर पहुंचे तो पुलिस सर्तक हो गई। नगर चौकी इंचार्ज ने सिपाहियों के साथ प्रतिकात्मक शव के पुतले को लेने की कोशिश की। इस बीच दोनो पक्षों में हल्की फुल्की नोंकझोंक भी हुई। इसके बाद बलिया नाले में प्रतिकात्मक शवदाह हुआ। सभी शिक्षक व कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन के बहाली की मांग की।


मंच के जिलाध्यक्ष राजेश कुमार जायसवाल ने कहा कि नई पेंशन स्कीम शिक्षक कर्मचारी हित में नहीं है। विरोध कर सरकार को चेतावनी दिया जा रहा है कि पुरानी पेेंशन को बहाल किया जाए। पुराने पेंशन स्कीम से ढेर सारे लाभ मिलते थे। इस दौरान आदित्यनाथ शुक्ला, बलराम निगम, राजेशधारिया, विनय गुप्ता, महेन्द्र कुमार वर्मा, टीपी सिंह, राजकुमारी, संगीता, रीना सैनी, धीरज, विकास यादव, चन्द्रशेखर सिंह, अनिल यादव, लवकुश वर्मा, राकेश अग्रहरी, जगदम्बा सिंह, आशीष कुमार, वरेश कुमार, देवेन्द्र कुमार, मुकेश कुमार, पवन कुमार, डा. नवीन श्रीवास्तव, राकेश अग्रहरी, प्रणव द्विवेदी, गोपाल पटेल, दीप्ती शर्मा, रूपक, नीरज कुमार अनील कुमार के अलावा अन्य लोग मौजूद रहे। शव यात्रा में माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा विभाग, सफाई कर्मचारी संघ, लेखपाल संघ, पंचायत राज विभाग के अलावा अन्य संगठन शामिल हुए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned