उपजिलाधिकारी के आश्वासन के बाद समाप्त हुआ अनशन

15 दिन में निस्तारित होंगे आवेदन

By: Sunil Yadav

Published: 25 Apr 2018, 09:15 PM IST

महराजगंज. निचलौल नगर पंचायत कार्यालय द्वारा विकास तथा स्वच्छता योजनाओं में अनियमितता को लेकर समाजसेवी शैलेश पांडेय के नेतृत्व में नगर पंचायत कार्यालय परिसर में शुरू हुआ धरना उपजिलाधिकारी देवेश गुप्त के आश्वासन के बाद समाप्त हो गया।


मिली जानकारी के अनुसार नगर पंचायत निचलौल कार्यालय द्वारा विकास योजनाओं में हो रही धांधली व स्वच्छता के मुद्दे को लेकर गुरुवार को समाजसेवी शैलेष पांडेय ने धरना का ऐलान किया था। इसी क्रम में आज वे नगर पंचायत कार्यालय पर कई मोहल्लों से आये लोगों व सभासदों के साथ धरने पर बैठ गये। जिसका संज्ञान लेकर मौके पर पहुंचे उपजिलाधिकारी ने ज्ञापन लेकर तथा कई मुद्दों पर समाधान का आश्वासन देकर धरना समाप्त करवाया। सभी बिंदुओं पर निस्तारण करते हुए उपजिलाधिकारी ने बताया कि नगर पंचायत को स्वामित्व प्रमाण पत्र के अब तक 171 आवेदन प्राप्त हुए हैं। जिसमे 155 का निस्तारण किया गया है। बाकी बचे आवेदनों व अब प्राप्त होने वाले आवेदनों को नगर पंचायत प्राप्त करते समय प्राप्ति रजिस्टर में दर्ज करेगी और उसे 15 दिन में निस्तारित कर आवेदक को दे देगी।

उन्होंने बताया कि 2015-16 व 2016-17 में स्वीकृत 1080 शौचालयों कुल 1080 लाभार्थियों को प्रथम क़िस्त का धन भेज दिया गया है। जबकि 444 लोगों को द्वितीय क़िस्त का धन भेजा जा चुका है। बाकी बचें लोगों का भी सर्वे कर 15 दिन में धन खाते में भेज दिया जाएगा। ज्ञापन के तीसरे बिंदु के निस्तारण करते हुए उन्होंने बताया की प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों का सर्वे करने आये लोगों के साथ कोई भी राजनीतिक व्यक्ति नहीं रहेगा। वे लोग स्वतः जाकर सर्वे करेंगे। यदि उन्हें आवश्यक्ता होगी तो नगर पंचायत के किसी कर्मचारी को साथ लेकर जाएंगे। लाभार्थियों से लिए जा रहे 500 रुपये शुल्क के संबंध में उन्होंने कहा है कि ये निर्णय बोर्ड के बैठक में लिया गया है। इसे बोर्ड के सामने रखा जायेगा और शुल्क वापस कराने की बात होगी। हालांकि इस मामले में वहां बैठे कुछ सदस्यों ने विरोध जताते हुए कहा कि बोर्ड में ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है। शुल्क लगाकर जनता को लूटा जा रहा है।


उन्होंने बताया कि नगर में जेईएईएस के प्रकोप को देखते हुए खुल्ला घूम रहे सुअरों के पलकों को नोटिस भेजी जाएगी। यदि एक सप्ताह में वे उसे नहीं रोकते तो सुअरों को पकड़कर व्यापारियों को नीलाम कर दिया जाएगा। इस दौरान सभासद राकेश मद्धेशिया, राकेश चौहान, पूर्व सभासद जयसिंह, संपूर्णानंद पांडेय, हरिहर, रेशमा, नागेन्द्र, पुनिता, राजकुमारी, छेदी, अनिरुद्ध, उर्मिला, लक्ष्मण, रीता, राधेश्याम, जगदम्बा व राजेश आदि मौजूद रहें।

By- यशोदा श्रीवास्तव

Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned