नेपाल के एक हत्यारोपी को इंटरपोल ने गिरफ्तार कर किया नेपाल पुलिस के हवाले

16 साल पहले हुए एक हत्याकाण्ड में मिली थी उम्र कैद की सजा

By: Sunil Yadav

Published: 10 Feb 2018, 03:05 PM IST

महराजगंज. जयपुर में छिपे एक अपराधी को भारतीय इण्टरपोल ने गिरफ्तारकर शनिवार को काठमांडू में नेपाल पुलिस के हवाले कर दिया। अपराधी की गिरफ्तारी को लेकर नेपाल पुलिस कई वर्षों से हाथपांव मार रही थी। इस बीच आरोपी के जयपुर में छिपे होने की जानकारी पर नेपाल पुलिस ने इण्टरपोल से मदद मांगी। इसके बाद आरोपी शुक्रवार को जयपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। जिसे इण्टरपोल ने नेपाल को सैप दिया।

यह भी पढ़ें- विकास कार्यों की प्रगति देखने कजरी गांव पहुंचे कमिश्नर ने रिकार्ड को पेंसिल से दर्ज करने पर कर्मचारी को लगाई फटकार


वहीं दूसरी ओर इण्टरपोल की इस कार्रवाई के बाद नेपाल में छिपे भारतीय अपराधियों में हड़कंप मच गया है। ऐसा माना जा रहा है कि अब भारत नेपाल में छिपे अपराधियों को गिरफ्तार कर सौपने की मांग करेगा। सूत्रों के मुताबिक भारतीय जेल से फरार एक नशे के अवैध कारोबारी सहित पांच दर्जन से अधिक शातिर अपराधी नेपाल में शरण लिए हुए हैं। भारत इन अपराधियों की सूची कभी भी नेपाल को सौंप सकता है।


नेपाल में 16 वर्ष पहले हुए एक हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी जयपुर में भारतीय क्राईम ब्रांच ने पकड़ा था। इसके बाद नेपाल पुलिस आरोपी को सौपने की मांग की थी। जिसे आज काठमांडू के त्रिभुवन विमान स्थल पर नेपाल के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियो को सौंपा। नेपाल के थमेल स्तिथ जूली स्टुडियो में सुर्वण गुरूंग की हत्या हुई थी जिसका मुख्य आरोपी आतिनी भत्रे मुखिया था। नेपाल की अदालत ने उसे उम्रकैद की सजा सुनाई है। हत्या के बाद मुखिया फरार होकर भारत के जयपुर मे छिपा हुआ.था। नेपाल इण्टरपोल ने उसके खिलाफ रेड कार्नर नोटीस जारी किया था। इसी के तहत उसे आज दिल्ली से नेपाल वायु सेवा निगम से काठमान्डू के त्रिभुवन अन्तर्राष्टिय एयरपोर्ट पर लाया गया जहां भारतीय क्राईम ब्रांच व इण्टरपोल के अधिकारीयों ने उसे नेपाल पुलिस के अधिकारीयों को हत्याकाण्ड के आरोपी आतिनी भत्रे मुखिया को सौंप दिया।

Show More
Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned