चुनाव में हुई मनमानी तो जाना होगा जेल

निष्पक्ष चुनाव के लिए प्रशासन ने कसी कमर, रूट मार्च से कसा जा रहा है उपद्रवियों पर शिंकजा

By: Ashish Shukla

Published: 12 Nov 2017, 04:11 PM IST

महराजगंज. जिले में नगर निकायों का चुनाव सकुशल संपन्न कराने के लिए प्रशासन कमर कस कर तैयार है। पुलिस प्रशासन जहां परपंरा के अनुसार निकाय चुनाव वाले क्षेत्रों से लोगों को पाबंद पर लगने के अभियान मेु जुटी हुई है वहीं कस्बों में रूट मार्च कर बिघ्न डालने वालों को मौन चेतवानी दी जा रही है।

एसपी और डीएम दोनों आला अफसरों की लगातार मीटिंग का दौर जारी है। पुुलिस सूत्रों के अनुसार अब तक सभी सात निकाय क्षेत्रों स ेअब तक एक हजार से अधिक लोग पाबंद किए जा चुके हैं। थानों से पाबंद के सम्मन जारी है।

बता दें कि जिले के सात नगर निकाय के चुनावों को सकुशल संपन्न कराना पुलिस प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है। जिले के नौतनवा नगर पालिका,सोनौली नगर पंचायत तथा निचलौल नगर पंचायत संवेदनशील की श्रेणी में है।

इसके अलावा अन्य नगर पंचायतों के कई बूथ भी संवेदनशील की श्रेणी में है। ऐसे नगरीय क्षेत्रों और बूथों पर सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम होगें। प्रशासन ने सरकार से सुरक्षा के लिए पर्याप्त सुरक्षा बल की मांग की है।

 

इस बार चूंकि सपा और कहीं कहीं कांग्रेस उम्मीदवार के मजबूत स्थित में होने से मतदान के दिन या पहले विवाद का खतरा बना हुआ है। सपा और भाजपा में तो सीधा मुकाबला होने की उम्मीद है। चुनाव का जो परिदृष्य दिख रहा है उसे देखते हुए चुनाव में दबंगई का भी सहारा लिया जा सकता है।

 

एसपी का कहना है कि चुनाव निष्पक्ष कराना उनकी प्राथमिकता है। कहा कि सत्ता या विपक्ष के तरफ से हमारी पुलिस की किसी रूप में संलिप्तता की शिकायत मिली तो आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रचाई होगी। उन्होंने चुनाव ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मियों को हिदायत दे रखी है कि वे किसी उम्मीदवार का आतिथ्य स्वीकार न करें।

 

उन्होंने स्थानीय इकाई को अपने स्तर पर इस पर नजर रखने का निर्देश दिया है। एसपी ने बताया कि संवेदनशील क्षेत्रों में नजर रखी जा रही है। जगह जगह पुलिस बल के रूट मार्च के जरिए उपद्रवियों को सचेत किया जा रहा है। जहां से भी विवाद की शिकायत मिल रही है, वहां चिन्हित उपद्रवियां को पाबंद किया जा रहा है।

 

डीएम ने अलग से निर्देश जारी कर रखा है कि पाबंद लोग यदि तय समय सीमा के अंदर निजी मुचलका पर जमानत नहीं ले लेते तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेजा जाएगा।

Ashish Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned