पीएम मोदी से बोला यूपी का किसान, मंडी में मिलते थे 10 से 15 रुपये, 25 रुपये में खेत से खरीद रही है कंपनी

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाराजगंज के किसान रामगुलाब उनकी नई खेती के बारे में की बात
  • किसान ने पीएम को बताया कि कंपनी पैसे भी दे रही है और जमीन जाने का डर भी नहीं है

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

महाराजगंज. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर मंडल के जिले महाराजगंज के वनटांगिया गांव बरगदवा राजा के किसान रामगुलाब ने अपनी तरह के छोटे-छोटे 100 किसानों का ग्रुप बनाकर एक कंपन बनाई और एक कंपनी से एग्रिमेंट कर लिया। उनका दावा है कि पहले वह बाजार जाकर फसल 10 से 15 रुपये में बेचते थे, लेकिन अब कंपनी उनसे 25 रुपये में सीधे खेत से खरीद रही है।

इसे भी पढ़ें- इसे भी पढ़ें- बी फार्मा, में दाखिला अब नए सत्र से UGPAT के माध्यम से होगा

ये बात किसी और ने नहीं किसान रामगुलाब ने खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उस वक्त बतायी जब पीएम किसानों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये किसनों से मुखातिब थे। उन्होंने प्रधानमंत्री को अपनी कंपनी के काम करने का तरीका बताया और फिर ऐसे खेती करने का अपना अनुभव भी पीएम के साथ साझा किया।

इसे भी पढ़ें- Bank Account Closeer Charge: खाता बंद करने कितना देना पड़ता है चार्ज, जानिये इससे कैसे बचें

प्रधानमंत्री ने जब एनआईसी भवन महाराजगंज में बैठे किसान रामगुलाब का अभिवादन किया तो वह गदगद हो गए। परिचय देने के बाद उन्होंने पीएम से बताया कि वह खेती के नए तरीके से बेहद खुश हैं। उन्हें न तो अपनी जमीन जाने का डर है और न ही बिचौलियों का। बल्कि अब उनकी फसल सीधे खेत से ही बिक जाती है।

इसे भी पढ़ें- यूपी के पंचायत चुनाव में उतरेगी भीम आर्मी, चंद्रशेखर ने आजमगढ़ में योगी सरकार पर बोला हमला
उन्होंने पीएम को बताया कि तीन बेटों समेत उनका 10 लोगों का परिवार है और जमीन कुल डेढ़ एकड़। पहले धान, गेंहू की खेती करते थे पर अब नारंगी शकर कंद की खेती करते है, जिसमें और लाभ है। इससे आर्थिक रुप से मजबूती आयी है। रामगुलाब ने प्रधानमंत्री को बताया कि उन्होंने 100 किसानों के साथ मिलकर कंपनी बनाई है। परंपरागत धान, गेहूं और सब्जी की जगह अहमदाबाद की कंपनी से एग्रिमेंट कर शकरकंद की खेती कर रहे हैं। 10 टन का एग्रिमेंट हुआ है। प्रधानमंत्री द्वरा खेती की योजना के बारे में पूछें जाने पर उन्होंने बताया कि शुरू में कम पूजी के साथ इसकी खेती शुरू की। धीरे धीरे वैज्ञानिक क़ृषि से इसको बढ़ावा मिला। आज यह एक व्यापक स्तर पर हो रहा है।

इसे भी पढ़ें- इसे भी पढ़ें- Weather Update शीतलहर के साथ बारिश का अलर्ट, यूपी में जारी है सर्दी का सितम
रामगुलाब ने बताया कि कंपनी से जुड़े सभी 100 किसान वनटांगिया गांव के रहने वाले छोटे किसान हैं। कहा कि 300 किसान जुड़ चुके हैं। पीएम ने इस पर उनकी तारीफ भी की। इसके बाद प्रधानमंत्री ने यह भी पूछा कि कंपनी पूरे पैसे दे रही है या नहीं। इसपर उन्होंने जवाब दिया कि सीधे खेत से खरीद रही है। 25 रुपये में, जबकि पहले हम बाजार ले जाकर 10 से 15 रुपये में बेचते थे।

इसे भी पढ़ें- अखिलेश के गढ़ में चंद्रशेखर का योगी पर हमला, कहा तानाशाही से नहीं चलता लोकतंत्र
पीएम ने पूछा क्या जमीन जाएगी

प्रधानमंत्री ने किसान से यह भी पूछा कि क्या नए कृषि सुधारों से उसे लाभ हुआ है और जमीन जाने का डर तो नहीं। इस पर रामगुलाब ने कहा कहा कि नहीं फायदा तो हुआ है और हम देख रहे हैं कि जमीन भी नहीं जाएगी। इस पर पीएम ने कहा कि यानि लोग झूठ बोल रहे हैं। जब आप जैसे लोग बोलते हैं तब लोगों का विश्वास बढ़ता है कि हमारी जमीन नहीं जाएगी। उन्होंने किसान को बधाई दी।

PM Narendra Modi
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned