स्कूल और अस्पताल में बंद गोवंश को मुक्त कराने पहुंचे पुलिसकर्मियों को ग्रामीणों ने दौड़ाया, पथराव

स्कूल में बंद गोवंश को मुक्त कराने पहुंची पुलिस प्रशासन की टीम से ग्रामीण भिड़ गए। जमकर पथराव हुआ।

 

मैनपुरी। प्रदेश में खुले घूम रहे गोवंश की समस्या के कारण किसानों का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। किसानों द्वारा सरकारी स्कूल, स्वास्थ्य केंद्र में गोवंश बंद करने का सिलसिला जारी है। मैनपुरी में गोवंश की समस्या के कारण कानून व्यवस्था का सवाल बन आया है। स्कूल में बंद गोवंश को मुक्त कराने पहुंची पुलिस प्रशासन की टीम से ग्रामीण भिड़ गए। जमकर पथराव हुआ।

सरकारी स्कूल में बंद गोवंश

मैनपुरी में दो जगह तनाव की स्थिति बन गई। ग्रामीणों मे दन्नाहार थाना क्षेत्र के गांव लालपुर में सरकारी स्कूल और गांव लाखनमऊ के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में गोवंश बंद कर दिए। स्कूल में गोवंश बंद होने के कारण बच्चों की पढ़ाई भी नहीं हो सकी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस पर ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। जैसे ही पुलिसकर्मी स्कूल में बंद गोवंश को मुक्त कराने पहुंचे, ग्रामीणों ने पथराव शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियों को भाग कर अपनी जान बचानी पड़ी। सूचना पर एसडीएम, सीओ और तहसीलदार अतिरिक्त पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। इसके बाद पुलिस ने लाठी फटकारते हुए ग्रामीणों को दौड़ाया। संघर्ष के बाद किसी तरह स्कूल में बंद गोवंश को मुक्त कराया जा सका।

स्वास्थ्य केंद्र में बंद गोवंश
उधर गांव लाखनमऊ के प्राथमिक स्वास्थ्य में गोवंश बंद करने की सूचना पर एसआई आरएन यादव मौके पर पहुंचे। यहां भी ग्रामीण उग्र हो गए। ग्रामीणों ने जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों और पुलिस के बीच जमकर तकरार हुई। बाद में यहां थानाध्यक्ष संजेश कुमार एसडीएम साथ पहुंचे।यहां भी पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा तब जाकर गोवंश को अस्पताल से बाहर निकाला जा सका।

अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned