लोकसभा चुनाव 2019: मैनपुरी सीट से मुलायम चुनाव लड़े तो सपा को होगा बहुत बड़ा फायदा, पढ़िए ये रिपोर्ट

सपा के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद प्रो.रामगोपाल यादव ने स्पष्ट किया है कि पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह मैनपुरी सीट से ही लोकसभा चुनाव लड़ेंगे।

By: suchita mishra

Published: 07 Jan 2019, 12:43 PM IST

मैनपुरी। समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव को लेकर हाल ही सपा के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद प्रो.रामगोपाल यादव ने स्पष्ट किया है कि मुलायम सिंह सपा के टिकट पर मैनपुरी से ही लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। रामगोपाल यादव का कहना है कि समाजवादी पार्टी इसका ऐलान जनवरी के अंत तक करेगी। सपा महासचिव के इस बयान के बाद से मैनपुरी में सपा कार्यकर्ताओं के बीच खुशी की लहर है। नेताजी को लोकसभा चुनाव में फिर से विजयी बनाने के लिए कार्यकर्ताओं ने अंदरूनी तौर पर प्लानिंग शुरू कर दी है। बता दें कि मैनपुरी को मुलायम सिंह यादव का गढ़ कहा जाता है। अगर मुलायम सिंह यहां से चुनाव लड़ते हैं तो सपा को बहुत बड़ा फायदा होगा।

1996 से शुरू हुआ था जीत का सिलसिला
वर्ष 1996 में मुलायम सिंह मैनपुरी से पहली बार सांसद बने थे। तब से लोकसभा चुनाव में यादव परिवार ही यहां से जीतता रहा है। उनके भतीजे धर्मेंद्र यादव भी यहां से सांसद रह चुके हैं। 2014 में लोकसभा चुनाव में मुलायम आजमगढ़ और मैनपुरी दोनों सीटों से जीते थे। लेकिन उन्होंने मैनपुरी सीट छोड़ दी थी। इस सीट पर उन्होंने अपने पोते तेज प्रताप यादव को चुनाव लड़ाया और उन्होंने जीत हासिल कर राजनीति में धमाकेदार एंट्री की।

2017 में किया था मैनपुरी सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान
हालांकि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव और नगर निकाय चुनाव में सपा के पारम्परिक गढ़ में पार्टी की करारी शिकस्त के बाद दिसम्बर 2017 में मुलायम सिंह ने ऐलान कर दिया था कि वे 2019 का चुनाव वे मैनपुरी से लड़ेंगे। ताकि सपा के गढ़ रहे इटावा, एटा, मैनपुरी, कन्नौज और फिरोजाबाद को फिर से मजबूत किया जा सके।

सपा को ये मिलेगा फायदा
जानकारों का मानना है कि सपा के गढ़ कहे जाने वाले इटावा, एटा, मैनपुरी, कन्नौज और फिरोजाबाद में शिवपाल और मुलायम दोनों की खासी पकड़ है। शिवपाल यादव ने पहले ही ऐलान कर दिया है कि मुलायम अगर सपा टिकट पर मैनपुरी से चुनाव लड़ेंगे तो वहां प्रसपा उनके खिलाफ अपना प्रत्याशी नहीं उतारेगी। ऐसे में यदि मुलायम 2019 में फिर से मैनपुरी सीट से चुनाव लड़ते हैं तो एक बार फिर सपा का वोटर एकजुट हो जाएगा।

 

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned