भाजपा नेता के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज, राष्ट्रपति के साथ फोटो वायरल

Amit Sharma

Publish: Dec, 08 2017 10:58:44 (IST)

Mainpuri, Uttar Pradesh, India

भाजपा नेता ने एसपी पर जानबूझ कर झूठे केस में फंसाने का आरोप लगाया है।

मैनपुरी। भारतीय जनता पार्टी नेता के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ है। आरोपी भाजपा नेता ने एसपी मैनपुरी पर गलत फंसाए जाने का आरोप लगाया है। साथ ही आरोपी भाजपा नेता के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ फोटो वायरल होने के बाद राष्ट्रपति का करीबी बताया जा रहा है।

शराब ठेका दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी का आरोप
पूरा मामला जनपद मैनपुरी की सदर कोतवाली क्षेत्र का है। थाना कोतवाली में दिनांक पांच दिसम्बर को भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता डॉ विपिन कठेरिया के खिलाफ थाना किशनी क्षेत्र के ग्राम धकरोई निवासी प्रदीप कुमार पुत्र सालिगराम ने थाना सदर कोतवाली में एक प्राथना पत्र दिया। डॉ विपिन कठेरिया पर शराब ठेका दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी कर रुपए लिए जाने का आरोप लगा गया है।प्रदीप कुमार ने आरोप लगाया गया है कि रुपए वापस मांगने पर डॉ विपिन कठेरिया ने जान से मारने की धमकी दी है।


420, 406 के तहत मामला दर्ज
प्रार्थना पत्र के आधार पर ही चार दिसम्बर को थाना कोतवाली में डॉ विपिन कठेरिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 406 के तहत मामला दर्ज किया है। जहां एक तरफ एसपी मैनपुरी राजेश एस ने मीडिया को मामले की जानकारी देते हुए बताया कि शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया है जिसकी जांच चल रही है जांच में जो भी निकल कर आएगा उसी के आधार पर कठोर कार्रवाई की जाएगी वहीं दूसरी ओर आरोपी डॉ विपिन कठेरिया ने भी प्रेसवार्ता कर अपने ऊपर लिखे गए मुकदमे को निराधार ओर फर्जी बताते हुए एक साजिश बताया है।


एसपी पर लगाए गंभीर आरोप
विपिन कठेरिया ने एसपी मैनपुरी पर आरोप लगाया है कि एक मामले में उन्होंने एसपी मैनपुरी राजेश एस के खिलाफ माननीय हाईकोर्ट में याचिका दायर की है जिसकी जानकारी जब से एसपी को हुई है तब से एसपी मैनपुरी व्यक्तिगत बुराई मानने लगे हैं और इसीके चलते एक स्थानीय विधायक के साथ मिलकर इस तरह की जालसाजी कर हमारे खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। विपिन कठेरिया ने ये भी बताया है कि अगर उन्हें न्याय नहीं मिला तो वो अब माननीय सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे और जरूरत पड़ी तो एसपी मैनपुरी को भी नही छोड़ेंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned