Career in Zoology: जूलोजी में बनाएं शानदार कॅरियर, ये हैं पूरी डिटेल्स

Career in Zoology: जूलोजी में बनाएं शानदार कॅरियर, ये हैं पूरी डिटेल्स
Career in Zoology Tips in Hindi

Sunil Sharma | Publish: Oct, 11 2019 03:52:45 PM (IST) | Updated: Oct, 11 2019 03:52:46 PM (IST) मैनेजमेंट मंत्र

Career in Zoology: जीव-जंतुओं से लगाव है तो जूलोजी को अपना फ्यूचर बना सकते हैं। इसमें समाग्रहित विषयों की पढ़ाई कर क्षेत्रों में कॅरियर के विकल्प मौजूद हैं।

Career in Zoology: वैसे तो विज्ञान विषय काफी विस्तृत है। इसमें समाग्रहित विषयों की पढ़ाई कर क्षेत्रों में कॅरियर के विकल्प मौजूद हैं। इस क्षेत्र के प्रोफेशनल को प्राणी विज्ञानी या प्राणी शास्त्री के नाम से जाना जाता है। इसमें मुख्य रूप से जीव-जंतुओं की विभिन्न प्रजातियों के व्यवहार, विशेषताओं, विकासवादी पृवत्तियों और वातावरणीय वस्तुओं व स्थितियों से उनके जीवन पर होने वाले असर का अध्ययन करना होता है। जीव-जंतुओं के बीच रहने और उनमें रुचि रखने वालों के लिए यह क्षेत्र दिलचस्प है। खास बात यह है कि इस विषय की पढ़ाई के दौरान सभी प्रकार के जानवरों की शारीरिक संरचना, विकास, वर्गीकरण और आदतों को समझने में मदद मिलती है। साथ ही दुर्लभ या विलुप्त हो रहे प्राणियों के बारे में अध्ययन कर उनका संरक्षण किया जाता है।

ये भी पढ़ेः फैशन डिजाइनिंग में बनाएं कॅरियर, हर महीने कमाएंगे लाखों, बॉलीवुड में भी चांस मिलेगा

ये भी पढ़ेः अगर गलती से भी ऑफिस में काम लिया इन शब्दों को तो बिगड़ जाएगी लाइफ

शैक्षणिक योग्यता
जीव विज्ञान, भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। इसके अलावा किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या संस्थान से न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ तीन वर्षीय ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त हो। इस विषय में दो वर्षीय मास्टर्स डिग्री भी ली जा सकती है।

रोजगार की संभावनाएं
नेशनल ज्योग्राफिक, एनिमल प्लेनेट, डिस्कवरी जैसे कई चैनलों को अनुसंधान और डॉक्यूमेंट्री पर कार्य करने के लिए जूलॉजिस्ट की आवश्यकताएं होती रहती हैं। इसके अलावा कृषि और मत्स्य क्षेत्र में रिसर्च साइंटिस्ट के रूप में कार्य कर सकते हैं। रिजर्व फॉरेस्ट के बढ़ते प्रसार के लिए भी ऐसे प्रोफेशनल की जरूरत पड़ती है।

ये भी पढ़ेः इस कहानी में छिपा है सफलता का राज, पढ़ कर मिलेगा कामयाब होने का रास्ता

ये भी पढ़ेः CBSE Board Exam: नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, 33% मार्क्स लाने पर हो जाएंगे पास

स्नातक कोर्स
बायोटेक्नोलॉजी, जूलॉजी एंड केमेस्ट्री आदि में बीएससी के अलावा बॉटनी व जूलॉजी एंड केमिस्ट्री में बीएससी कर सकते हैं।

परास्नातक व अन्य
1. मास्टर ऑफ साइंस इन जूलॉजी
2. मास्टर ऑफ साइंस इन जूलॉजी (ऑनर्स)
3. मास्टर ऑफ साइंस इन एप्लाइड जूलॉजी
4. पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन लाइफ साइंसेज
5. मास्टर ऑफ साइंस इन जूलॉजी (ऑनर्स)
6. पीएचडी या एमफिल इन जूलॉजी
7. कीटविज्ञान, पक्षीविज्ञान आदि में स्पेशलाइजेशन

यहां से कर सकते हैं पढ़ाई
1. पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज ऑफ साइंस, हैदराबाद
2. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ इलाहाबाद
3. पुणे यूनिवर्सिटी
4. बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी, वाराणसी
5. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी
6. दिल्ली यूनिवर्सिटी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned