ऐसे करें स्टार्टअप की प्लानिंग तो मिलेगी कामयाबी

स्टार्टअप की शुरुआत से पहले उसकी सही तरीके से की गई स्टडी रिपोर्ट और रिसर्च आपके पास होनी चाहिए।

सैन फ्रांसिस्को जिसे ‘स्टार्टअप कैपिटल ऑफ दी वर्ल्ड’ भी कहा जाता है। यहां इन दिनों एक टॉपिक सर्वाधिक चर्चा में कि स्टार्टअप फेलियर को कम कैसे किया जाए। दरअसल ग्लोबली 60 प्रतिशत से अधिक स्टार्टअप शुरुआती एक वर्ष में ही दम तोड़ देते है। हालांकि तीन वर्ष पूर्व तक यह आंकड़ा करीब 76 प्रतिशत था लेकिन अब भी कई देशों में स्टार्टअप की विफलता का प्रतिशत अधिक है। बीते एक वर्ष से विफलता के कारणों को जानने के लिए सैन फ्रांसिस्को सहित अमरीका के अन्य शहरों की संस्थाओं और टॉप यूनिवर्सिटी की ओर से इस सबंध में विभिन्न रिसर्च प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं। इनमें कुछ बेसिक सॉल्यूशन आए हैं।

एक कप चाय नहीं मिली तो चाय का बिजनेस ही खड़ा कर दिया, कमाने लगे लाखों

क्या आप भी अपने ऑफिस से परेशान हैं, आजमाएं ये टिप्स

डीप स्टडी-रिसर्च ही विकल्प
यंग एंटरप्रेन्योर के लिए सबसे महत्वूपर्ण बात यह है कि स्टार्टअप की शुरुआत से पहले उसकी सही तरीके से की गई स्टडी रिपोर्ट और रिसर्च आपके पास होनी चाहिए। यह रिपोर्ट केवल संबंधित सेक्टर में काम करने वाले स्टार्टअप को लेकर नहीं अपितु उस सेक्टर की परफॉर्मेंस से सबंधित होनी चाहिए। सबसे अधिक वे स्टार्टअप आइडिया फ्लॉप होते हैं, जो केवल उस सेक्टर की ग्रोथ का अंदाजा कुछ स्टार्टअप की सफलता से लगा लेते हैं। इसलिए जो युवा स्टार्टअप को लेकर प्लानिंग कर रहे हैं और अपने आइडिया को लेकर पूर्ण रुप से निश्चिंत हैं उन्हें भी एक बार पुन: अपनी योजना को चेक करने की आवश्यकता है।

प्रोडक्ट के ग्राहक स्वयं बनें
एमबीए प्रोग्राम से जुड़ी कई अमरीकन यूनिवर्सिटी के रिसर्च प्रोग्राम में यह कॉमन तथ्य निकलकर सामने आया कि किसी भी एंटरप्रेन्योर का पहला ग्राहक स्वयं बनने की जरूरत है। दरअसल किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस को लॉन्च करने से पहले उसे कम से कम 100 दिन स्वयं जांचने की आवश्यकता है। प्रोडक्ट या सर्विस को मार्केट में ले जाने से पूर्व आप संबंधित प्रोडक्ट का रिव्यू करें और एक रिपोर्ट तैयार करें। इसके अलावा प्रोडक्ट रिव्यू करने के लिए आप जिस भी टीम का सलेक्शन करें उसमें अपनी कंपनी या प्रोडक्ट से जुड़े लोगों को सम्मिलित ना करें, जिससे कि आपको प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में सही फीडबैक मिल सके।

ऑनलाइन सर्वे भी मददगार
जब आप स्वयं या आपकी टीम प्रोडक्ट या सर्विस को लेकर पॉजीटिव हो तब भी प्रोडक्ट या सर्विस को लॉन्च करने में जल्दबाजी ना करें। आप एक और रिएलिटी चैक करने के लिए ऑनलाइन सर्वे जनरेट करें। हालांकि सर्वे में अपने प्रोडक्ट या सर्विस का खुलकर जिक्र ना करें लेकिन टारगेटेड ऑडिएंस का फीडबैक लेने के लिए प्रोडक्ट से रिलेटेड कुछ बातों का जिक्र किया जा सकता है। यदि आप स्टार्टअप की शुरुआत करने जा रहे हैं तब भी ऑनलाइन मीडिया आपके लिए मददगार हो सकता है। आप अपने और अपने दोस्तों के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग इस प्रकार के सर्वे के लिए कर सकते हैं।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned