17 लाख किया गबन और हो गया था फरार

सरपंच के साथ मिलकर सचिव ने किया गोलमाल

By: Mangal Singh Thakur

Published: 09 Feb 2018, 04:28 PM IST

बीजाडांडी. बीजाडांडी थाना के अंतर्गत एक साल से फरार आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार मुख्य आरोपी ग्राम पंचायत सचिव आशाराम मरावी पिता गुलाब सिंह मरावी निवासी मलगांव थाना निवास पिछले एक साल से फरार चल रहा था। जिसपर धारा 420, 409, 467, 34 के तहत अपराध कायम किया गया था। महिनों से पड़े उक्त अपराध की विवेचना में प्रगति न होने पर पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह द्वारा मामले के विवेचना की जिम्मेदारी थाना प्रभारी वर्षा पटेल को सौंपी गई। विवेचना में तेजी लाते हुए थाना प्रभारी बीजाडांडी वर्षा पटेल द्वारा मुखबिर सूचना को मजबूत करते हुए उक्त आरोपी को उसके गांव मलगांव से पकड़वा लिया। जिससे गहन पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर न्यायायल में प्रस्तुत किया गया है। बताया गया कि वर्ष 2017 में ग्राम पंचायत मनेरी के सरपंच सचिव द्वारा निर्माण कार्यों के नाम शासन से पैसा स्वीकृत कराकर आहरण कर लिया गया। तथा निर्माण कार्य पूर्ण नहीं कराया गया। कहीं-कहीं निर्माण कार्य प्रारंभ भी नहीं हुआ और फजी बिल लगाकर पैसा आहरण कर शासन के साथ छल एवं गबन कर लिया गया। जिसपर आपराध कायम कर ग्राम पंचायत मनेरी के तत्कालीन सरपंच मलिया बाई, सचिव आशाराम, पंचायत समन्वयक अधिकारी मनीराम झारिया सहित न्य लोगों को आरोपी बनाकर चौकी प्रभारी मनेरी द्वारा विवेचना की गई। विवेचना में लगभग १७ लाख रुपए की राशि की हेराफेरी किया जाना पाया गया। जिसकी विवेचना अब थाना प्रभारी बीजाडांडी वर्षा पटेल द्वारा की जा रही है। आरोपी की गिरफ्तारी में निरीक्षक वर्षा पटेल, उपनिरक्षक बिसेन, उप निरीक्षक उमेश गोल्हाटी, आरक्षक अमित पाण्डेय, विवेक दुबे, मनीष, अजीत परते आदि का सहयोग रहा।

--------------------------------------------

दो किलोमीटर पैदल चले यात्री
मंडला. महाराजपुर थाना के अंतर्गत दो पहिया व चार पहिया वाहन चालकों पर कार्रवाई की गई। गुरुवार की दोपहर झूलापुल के पास सकवाह में कार्रवाई की गई। इस दौरान दो पहिया वाहन चालकों के हेलमेट चैक किए गए। हेलमेट न पहने वाले वाहन चालकों का चलान काटा गया। वहीं ऑटो चालकों के कागजात की जांच करने के साथ ही ओवरलोड न करेन की समझाइश दी गई। इस दौरान १५ वाहनों पर चलान कर 37 सौ 50 रुपए वसूला गया। कार्रवाई बचने के लिए कुछ लोगों ने रास्ता बदल लिया तो कुछ लोगों ने अपने रसूख भी दिखाए। ऑटो चालक बीच रास्ते में ही सवारी छोड़कर वापस लौट गए जिसके चलते मंडला तक आने वाले यात्रियों को दो किलोमीटर पैदल सफर करना पड़ा।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned