430 को मिला लोक अदालत का लाभ

219 प्रकरण निराकृत, 2.67 करोड़ का धनादेश पारित

By: Mangal Singh Thakur

Updated: 12 Jul 2021, 12:23 PM IST

मंडला. नेशनल लोक अदालत जिला न्यायालय मण्डला एवं तहसील नैनपुर, निवास, बिछिया में आयोजित की गई है जिसमें सभी समझौते योग्य प्रकरणों के निराकरण के लिए 15 खंडपीठों का गठन किया गया। उनमें आपसी सुलह के आधार पर राजीनामा किया गया। अपर जिला न्यायाधीश, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण डॉ. प्रीति श्रीवास्तव ने बताया कि इस बार की लोक अदालत में प्रिलिटिगेशन प्रकरणों में बैंक के 1788 प्रकरणों में से 48 प्रकरण निराकृत हुये जिसमें 12 लाख 49 हजार 502 रुपए की वसूली राशि प्राप्त हुई। विद्युत विभाग के 547 प्रकरणों में से निराकृत 150 प्रकरण में 9 लाख 88 हजार 785 रुपए , नगरपालिका के 51 प्रकरणों में से निराकृत 9 प्रकरण में 28 हजार 980 रुपए की वसूली राशि प्राप्त हुई। श्रम विभाग के 3 प्रकरणों में से 1 प्रकरण निराकृत हुये जिसमें 500 रूपये की वसूली राशि प्राप्त हुई।
न्यायालय के पैंडिंग केसेस में समझौता योग्य आपराधिक प्रकरणों केे 235 प्रकरणों में से 30 एवं 138 एनआई एक्ट के 84 प्रकरणों में से 16 प्रकरण निराकृत हुये जिसमें 31 लाख 47 हजार 727 राशि का अवार्ड पारित किया गया। एमएसीटी के 437 प्रकरणों में से 134 प्रकरण निराकृत ,2273000 राशि का अवार्ड पारित, पारिवारिक विवाद के 115 प्रकरणों में से 11 प्रकरण निराकृत हुये। अन्य सिविल के 89 प्रकरणों में से 16 प्रकरण निराकृत, 825000 धनराशि का आदेश पारित किया गया है। सभी समझौता योग्य प्रकरणों का निराकरण आपसी सुलह के आधार पर किया गया। इस प्रकार न्यायालय के पैंडिंग केसेस कुुल 994 प्रकरणों में से 219 प्रकरण निराकृत किये गये तथा 2 करोड़ 67 लाख 05 हजार 727 रूपये राशि का धनादेश पारित किया गया। लोक अदालत से कुल 430 लोग लाभान्वित हुये। जिले में जिला न्यायाधीश, अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण आरसी वाष्र्णेय के निर्देशन, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण डॉ. प्रीति श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned