स्वस्थ भारत के संदेश के साथ 63 वर्षीय वृद्ध पदयात्रा पर

नशा मुक्ति व नियमित व्यायाम के लिए अभिराम लोंगो को कर रहा जागरूक

By: Mangal Singh Thakur

Published: 05 Mar 2021, 11:28 AM IST

मंडला. स्वास्थ्य भारत का संदेश देते हुए 63 वर्षीय वृद्ध सैंकड़ों किलोमीटर की पदयात्रा कर रहे हैं। युवाओं को नशे से दूर रहने व नियमित रूप से व्यायाम करने के लिए भी जागरूक कर रहे है। ओडिशा के अभिराम सतपथी नारायणगंज पहुंचे तो स्थानीय लोगों ने उनका स्वागत किया। ओडिशा के झारसुगुड़ा के पास ग्राम दुर्लगा के रहने वाले 63 साल के अभिराम सतपथी अब तक 57 दिन की पदयात्रा करते हुए मंडला पहुंचे हैं। अभिराम कोरोना को लेकर भी लोगों को जागरूक कर रहे हैं। वे चेहरे पर मास्क पहने रहते हैं। उनके एक हाथ में तिरंगा तो दूसरे हाथ में सफेद झोला है, जिसमें वे अपनी यात्रा के दौरान आए पड़ाव के दस्तावेज व युवाओं को जागरूक करने वाले पंपलेट लिए हुए हैं। पीठ पर एक और बैग लटका हुआ है, जिसमें कुछ कपड़े रखे हुए हैं। युवाओं को नशे के खिलाफ जागरूक करने के लिए कुछ संदेश वे अपने सीने पर लगाए हुए हैं, ताकि इससे लोग जागरूक हों।


उनकी यात्रा 6 जनवरी 2021 को शुरू हुई। ये झारसुगुड़ा से पहले भुवनेश्वर होते हुए पुरी पहुंचे। कवर्धा से होते हुए मंडला जिला पहुंचे और अब जबलपुर की ओर बढ़ रहे हैं। उन्हें दिल्ली पहुंचने के लिए अभी लगभग 900 किलोमीटर की दूरी और तय करनी है। मंडला से वे जबलपुर, सागर, ललितपुर, झांसी, दतिया, ग्वालियर, मुरैना, धौलपुर, आगरा होते हुए दिल्ली के संसद भवन पहुंचेंगे। अभिराम बताते हैं कि उन्होंने युवाओं को नशा करके दुर्घटना का शिकार होते देखा है, इसलिए उन्हें जागरूक करने के लिए वे पदयात्रा कर रहे हैं। अभिराम सतपथी प्रतिदिन 30 से 40 किलोमीटर की पदयात्रा करते हैं। वे पहले ओडिशा के बलांगीर में निजी पावर सेक्टर में मुख्य हेड क्लर्क रहे हैं। 63 वर्ष की उम्र में उनकी जज्बे तो हर कोई सलाम कर रहा है। लोंगो तक संदेश पहुंचाने का उनका यह जूनन उनके चहरे पर थकान महशूस नहीं होने दे रहा है।


उन्होंने कहा कि भारत देश स्वस्थ राष्ट्र बने, इस उद्देश्य से ओडिशा से नई दिल्ली तक पदयात्रा कर रहा हूं। युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि जैसे रोज खाना खाते स्नान करते हैं ऐसे भी व्यायाम को भी शामिल करें। ताकि भारत देश स्वस्थ्य राष्ट्र बन सके। उन्होंने नशा को बड़ा अभिशाप बताते हुए कहा कि युवा तेजी से इसके गिरफ्त में आ रहे हैं, जो समाज की विकास के लिए बाधा है।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned