80 प्रतिशत वालों को भी मिलेगा लैपटॉप

वंचित रह गए वर्ष 2019 के मेधावी, सौंपा ज्ञापन

By: Mangal Singh Thakur

Updated: 30 Sep 2020, 02:54 PM IST

मंडला. शासन की योजना का लाभ ना मिलने के कारण वर्ष 2019 के मेधावी छात्रों की पढ़ाई अधर में है। शासन 12 वीं में 80 फीसदी से ज्यादा अंक लाने वाले छात्र-छात्राओं को लेपटॉप के लिए 25 हजार रूपए की मदद देती है। ताकि उच्च शिक्षा में छात्र डिजिटल का सहारा ले सकें और सफलता प्राप्त करें। कोरोना संक्रमण काल में यह योजना सैंकड़ों छात्रों के लिए वरदान साबित हो सकती थी। लेकिन वर्ष 2019 के छात्रों को इसका लाभ नहीं मिला। जिससे मेधावी छात्रों में आक्रोश पनप रहा है। इस संबध में दर्जनो छात्रों ने कलेक्ट्रेट तक रैली निकाल कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा है। प्रबल चौरसिया, गौरब नेमा, प्रयाज्ञ राज आदि छात्रों का कहना था कि 2019 में 80 प्रतिशत से ज्यादा अंक हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को अब तक लेपटॉप या 25 हजार रुपए नहीं दिए गए। जबकि साल 2018 और इस साल भी दिए गए। सिर्फ 2019 के छात्र-छात्राओं को इस योजना से वंचित रखा गया। इस मामले में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने सीएम के नाम ज्ञापन देकर मांग की है कि 2019 में कक्षा 12 की कक्षा में टॉप करने वाले विद्यार्थियों के खाते में राशि ट्रांसफर की जाए।


सीएम के नाम दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि 2018 में मुख्यमंत्री मेधावी प्रोत्साहन योजना के तहत प्रतिभाओं के खाते में राशि डाली गई थी। कुछ दिन पहले 2020 के टॉपर विद्यार्थियों के खातों में राशि डाली जा चुकी है। जबकि 2019 में 80 प्रतिशत अंकों के साथ कक्षा 12 में टॉप करने वाले छात्रों को राशि नहीं मिली है।
गौरतलब है कि पिछले कई सालों से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा माध्यमिक शिक्षा मंडल और सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं में 85 प्रतिशत से ज्यादा अंक हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को प्रदेश सरकार द्वारा लैपटॉप या उसकी राशि देने की योजना चलाई जा रही थी। वहीं इस साल मुख्यमंत्री बनते ही शिवराज सिंह चौहान ने दोबारा मेधावी छात्रों को लैपटॉप देने की घोषणा की है, लेकिन पिछले साल प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार सत्ता में थी जिसके कारण मेधावी लैपटॉप योजना का लाभ छात्रों को नहीं मिल सका था। जिससे जिले के सैंकड़ों बच्चे उच्च अंक हासिल करने के बाद भी इस योजना से वंचित रह गए थे।


इस साल 93 मेधावियों को लेपटॉल के लिए मिली राशि
माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित की जाने वाली हायर सेकेंडरी बोर्ड परीक्षा 2020 में 85 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त करने वाले मेधावी छात्रों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 25 हजार रुपए की राशि लेपटॉप के लिए उपलब्ध कराई गई है। जिले के 26 विद्यालयों से 93 छात्र छात्राओं के खाते में राशि जारी की गई है। वहीं वर्ष 2013 से 2020 तक 1498 छात्र-छात्राओं को इस योजना का लाभ मिल चुका है। वर्ष 2018 में 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को लाभ दिया गया था जिसमें जिले के 665 छात्र लाभांवित हुए थे। इसके बाद योजना के लाभ के लिए 85 प्रतिशत कर दिया गया।


80 प्रतिशत वालों को भी मिलेगा लाभ
प्रतिभाशाली छात्र प्रोत्साहन योजना के तहत लैपटॉप की राशि जिले के 12वीं के 249 विद्यार्थियों को और मिलेगी। मुख्यमंत्री ने पहले बनाए गए कांग्रेस के नियम 85 प्रतिशत से ज्यादा अंक लाने वाले विद्यार्थियों को योजना का लाभ देने की बजाए अब उसे 80 प्रतिशत तक कर दिया है। अब जो वर्ष 201-20 में 12वीं बोर्ड परीक्षा में 80 प्रतिशत से ज्यादा अंक से सफलता प्राप्त की है इस योजना के तहत उन्हें भी लैपटॉप की 25 हजार रुपए की राशि मिलेगी। 80 प्रतिशत से 85 प्रतिशत के बीच वाले जिले के 156 विद्यार्थी शामिल हैं। जिनके जुडऩे से प्रतिभाशाली छात्र प्रोत्साहन योजना का लाभ पाने वाले विद्यार्थियों की संख्या 249 हो गई है। लैपटॉप की राशि बच्चों के नाम जिला शिक्षा केंद्र से वेरिफाई होने के बाद भोपाल से ही उनके बैंक अकाउंट में डाली जाएगी।


इनका कहना है
85 प्रतिशत वाले 93 मेधावी छात्रों को राशि शासन ने जारी कर दी है। मुख्यमंत्री ने अब 80 प्रतिशत के ऊपर वाले छात्र भी पात्र कर दिए हैं। इस तरह जिले के 156 और मेधावी छात्रों को योजना का लाभ मिलेगा। जिनकी बैंक अकाउंट संबधित जानकारी भोपाल भेज दी गई है। राशि भोपाल से ही जारी की जाएगी।
महेन्द्र श्रीवास, बोर्ड परीक्षा प्रभारी, जिला शिक्षा कार्यालय

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned