9 लाख 75 हजार 442 मतदाता जनप्रतिनिधि का करेंगे चुनाव

940 मतदान केन्द्र लोकसभा क्षेत्र में बनाए गए हैं

By: amaresh singh

Published: 10 Mar 2019, 09:59 PM IST

मंडला। चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद रविवार को मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कलेक्टर जगदीश चन्द्र जटिया ने जिले की मीडिया को भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी लोकसभा चुनाव के कार्यक्रम की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव पूरे भारत में 7 चरणों में होगा। मप्र में चार चरणों पर मतदान होंगे। मंडला संसदीय लोकसभा क्षेत्र में चार जिले आते है। जहां की आठ विधानसभा इस लोकसभा में शामिल है। मंडला संसदीय क्षेत्र में मंडला, निवास, बिछिया, शहपुरा, डिण्डौरी, गोटेगांव, नरसिंहपुर, लखनादौन का क्षेत्र शामिल है। निर्वाचन आयोग से मिले निर्देशों का पालन किया जाएगा। नामांकन पत्र दाखिल करने के अंतिम तिथि 25 मार्च नियत की गई है। वाहनों के अधिग्रहण चुनाव प्रचार-प्रसार अनुमति के साथ अन्य चुनाव सम्बधि प्रक्रिया पर दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा। 23 मई को मतगणना होगी। लोकसभा क्षेत्र में 9 लाख 75 हजार 442 मतदाता हैं। 940 मतदान केन्द्र लोकसभा क्षेत्र में बनाए गए हैं। चुनाव खर्चे पर विशेष निगरानी रखी जाएगी। आगामी त्योहारों का ध्यान रखा गया। इस बार सोशल मीडिया पर भी लागू है आचार संहिता सोशल मीडिया पर कैंपेनिंग का खर्चा भी जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को इस बार किसी भी राजनीतिक पार्टी के विज्ञापन को जारी करने की जानकारी देनी होगी। स्वीकृति मिलने के बाद ही वह ऐसा कर सकते हैं। गूगल और एएफबी को भी ऐसे विज्ञापन दाताओं की पहचान करने के निर्देश मिलें हैं। चुनाव प्रचार में लगने वाले वाहनों की अनुमति 24 घंटे में दी जाएगी। वहीं शिकायतों के लिए कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। नये आदेश के तहत डिस्ट्रिक्ट कॉन्टेक्ट सेंटर के कक्ष में ही कंट्रोल रूम स्थापित कर दिया है। इस कंट्रोल रूम का नंबर 070642-250411 है। कलेक्टर ने कंट्रोल रूम के लिए अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी भी लगा दी है। ड्यूटी आदेश के तहत उन्होंने 8-8 घण्टों की 3 शिफ्ट में शासकीय सेवकों की ड्यूटी लगाई है। यह शिफ्ट प्रात: 6 बजे से दोजहर 2 बजें तक, रात्रि 10 बजे से प्रातरू 6 बजे तक प्रभावशील रहेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने अपने ड्यूटी आदेश में शासकीय सेवकों के लिए दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए हैं। बैठक में पुलिस अधीक्षक आरआरएस परिहार, एसडीएम सुलेखा सिंह उईके, बिछिया एसडीएम जितेन्द्र पटैल के साथ अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। उन्होंने सम्पत्ति विरूपण, अवैध शराब जैसी गतिविधि पर होने वाली कार्यवाही की जानकारी भी दी। कलेक्टर ने आचार संहिता के समय धरने, सभा, जुलूश आदि गतिविधियों के लिए निर्धारित दिशा निर्देशों की भी जानकारी दी।


धारा 144 लागूृ
जिले में चुनाव को लेकर तिथि घोषणा होते ही धारा 144 लगा दी गई है जिससे अस्त्र शस्त्र विस्फोटक के प्रदर्शन, परिवहन सहित बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति के जुलूस, सभा और रैली आदि प्रतिबंधित कर दी गई है। इस अवधि में शस्त्र लायसेंस निलम्बित कर दिए गए हैंं, आगंतुकों के स्वागत, उत्सव एवं समारोह में हवाई फायर भी नहीं किए जाएंगे। प्रतिबंध की अवधि में वैध अनुज्ञप्तिधारी को छोड़कर कोई भी व्यक्ति न तो बारूद एवं पटाखों का निर्माण कर सकेगा और ना ही उनका परिवहन या उपयोग कर सकेगा। कलेक्टर जाटव ने बताया कि कोई भी राजनैतिक दल या व्यक्ति 48 घंटे पूर्व सक्षम अधिकारी की अनुमति और पुलिस को सूचित किए बगैर किसी प्रकार का जुलूस नहीं निकाल सकेंगे और न ही सार्वजनिक स्थान पर आमसभा का आयोजन या आयोजन के लिये टेंट शामियाना लगा सकेंगे।


भाजपा कांग्रेस की बीच सीधा मुकाबला
अतीत में जाएं तो मंडला संसदीय क्षेत्र में आदिवासी वोट बैंक कांग्रेस के साथ था लेकिन दस साल पहले यह तबका गोंगपा में चला गया था। अब बदले परिदृश्य में कांग्रेस परंपरागत वोट को वापस लाने का प्रयास कर रही है वहीं भाजपा इस पर सेंध लगाने के प्रयास में जुटी है। विधानसभा चुनाव 2018 में जिले की तीन विधानसभाओं में से दो विधानसभा- निवास और बिछिया में कांग्रेस ने जीत हासिल की। निवास विधानसभा में पिछले 15 वर्षों से कुलस्ते बंधुओं के एकाधिकार को इस बार कांग्रेस के प्रत्याशी ने ध्वस्त कर दिया। यही कारण है कि इस बार मंंडला लोकसभा सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है।
मंडला लोकसभा संसदीय क्षेत्र में मंडला की तीन- मंडला, निवास, बिछिया, डिंडोरी जिले की ङ्क्षडडोरी और शहपुरा निवास विधानसभा, सिवनी जिले की- केवलारी , लखनादौन और नरसिंहपुर की एक विधानसभा सीट - गोटेगांव आती है।
1977 की इमरजेंसी को छोड़ दें तो आजादी के बाद से बाबरी कांड तक इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा था। इसके बाद 1996 से लेकर 2004 तक भाजपा काबिज रही। वर्ष 2014 में जीत हासिल करने के बाद इस दौरान फग्गन सिंह कुलस्ते लगातार चा
र बार चुनाव जीते। अहम बात यह है कि पिछले दो लोकसभा चुनावों में गोंडवाना गंणतंत्र पार्टी को आदिवासियों के अच्छे खासे वोट मिले। अब कांग्रेस और भाजपा इस वोट बैंक को अपने पक्ष में लाने के लिए प्रयासरत हैं। पिछले विधानसभा का परिणाम देखें तो कांग्रेस-भाजपा को छह-दो के अनुपात में सीटें मिली। इससे साफ है कि इस चुनाव में भी दोनों प्रत्याशियों की जीत. हार का फैसला नजदीकी होगा।
----------------------------
वर्ष 2014- लोकसभा चुनाव
-----------------------------

* फग्गन सिंह कुलस्ते-कुल वोट मिले-585720
* निकटतम प्रतिद्वंद्वी
ओंकार सिंह मरकाम- वोट मिले- 475251
* हार का अंतर- 1,10,469
* तीसरे नम्बर पर रहे- गंगा सिंह ं-गोंगपा- वोट मिले- 56572
* चौथे नम्बर पर रहे- इंदर सिंहं- अपाआइ- वोट मिले- 11923
---------------------------------------------------------
फग्गन सिंह(भाजपा)-
क्षेत्र वोट मिले
शहपुरा 62999
डिंडोरी 65801
बिछिया 62653
निवास 76562
मंडला 86192
केवलारी 82856
लखनादौन 73389
गोटेगांव 74088
डाकमत 1180
-----------------------------
ओंकार मरकाम(कांग्रेस)
क्षेत्र वोट मिले
शहपुरा 72863
डिंडोरी 77532
बिछिया 55369
निवास 55543
मंडला 58489
केवलारी 52819
लखनादौन 63833
गोटेगांव 34461
डाकमत 342

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned