बोर्ड परीक्षा में विद्यालय का खराब रिजल्ट रहा तो प्राचार्य-शिक्षक पर कार्रवाई

बोर्ड परीक्षा में विद्यालय का खराब रिजल्ट रहा तो प्राचार्य-शिक्षक पर कार्रवाई

Sawan Singh Thakur | Publish: May, 17 2019 06:40:18 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 06:40:19 PM (IST) Mandla, Mandla, Madhya Pradesh, India

माशिमं के फरमान से लापरवाह हुए चिंतित

मंडला। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा 15 मई को कक्षा दसवी और कक्षा 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित किया जा चुका है। परिणाम में खराब प्रदर्शन करने वालों स्कूलों के प्रमुख और विषय के शिक्षक के खिलाफ माध्यमिक शिक्षा मंडल कार्रवाई भी तय की है। इसको लेकर जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश भी दिए जा चुके है। हांलाकि अभी तक तय निर्देशों के अनुसार गत वर्षों में एक भी संस्था का खराब प्रदर्शन नहीं रहा है। लेकिन साल दर साल प्रदेश में जिले की रैकिंग कम हुई है।
30 प्रतिशत पर रुकेगी वेतन वृद्धि
जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार यदि कक्षा दसवी और 12वीं में किसी भी शाला का 30 फीसदी परीक्षा परिणाम रहता है तो संबंधित संस्था प्रमुख की एक वेतन वृद्धि रोक दी जाएगी और यदि 20 प्रतिशत रहता है। तो दो वेतन वृद्धि रोकी जाएगी और 10 प्रतिशत रहता है तो 3 वेतन वृद्धि रोक दी जाएगी। इसी प्रकार विषय विशेषज्ञों के लिए भी आदेश है। शिक्षक के उस से संबंधित विषय का परीक्षा परिणाम 30, 20 या 10 प्रतिशत रहता है तो संस्था प्रमुख की तरह ही उसकी वेतन वृद्धि रोक दी जाएगी। डीईओ कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार गत सालों में अभी तक एक भी ऐसी संस्था नहीं सामने आई। जिनका परीक्षा परिणाम 30 फीसदी या उससे कम हो और ना ही किसी शिक्षक के विषय में इतने कम विद्यार्थी पास हुए हो।
टॉप टेन में जिला शामिल

माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परिक्षाओं में जिले का हमेशा बेहतर परिणाम रहा है। शिक्षा अधिकारियों ने इस वर्ष दावा भी किया था कि प्रदेश मेंं टॉप टेन जिले की सूची में जिले का नाम होगा। तीन साल पहले जिला नंबर एक पर भी आया था। इस वर्ष टॉप १० में विद्यार्थियों के शामिल होने से जिला शिक्षा अधिकारी की मुश्किलें कुछ कम हुई हैं।
हमेशा की तरह इस वर्ष भी बेहतर परिणाम जिले का बोर्ड परिक्षाओं में रहा। जिन शासकीय विद्यालयों का परीक्षा परिणाम 30 फीसदी या उससे कम आया तो प्राचार्य की वेतन वृद्धि रोकी जाएगी। ऐसे निर्देश है। ऐसे परिणाम वाले स्कूल प्रबंधन पर निर्देशानुसार कार्रवाई होगी।
अशोक झारिया, जिला शिक्षा अधिकारी, मंडला

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned