कार्रवाई बंद, शराब का अवैध कारोबार फिर शुरू

जहां बनी थी जब्ती उसी के आसपास से कारोबार जारी

By: Mangal Singh Thakur

Published: 05 Feb 2021, 01:03 PM IST

मंडला. मुरैना जहरीले शराब कांड के बाद सीएम की चेतावनी जारी होने से लगभग एक पखवाड़े तक जिले भर में आबकारी विभाग ने दबिश पर दबिश दी और अवैध शराब के जखीरा पकड़ा। सैकड़ो किलो महुआ लाहन जब्त कर नष्ट किया और देसी-विदेशी शराब जब्त की। 26 जनवरी के बाद अचानक आबकारी विभाग की कार्रवाई को रोक दिया गया है। इसे सिर्फ इत्तेफाक कहा जाए या आबकारी विभाग की मौन स्वीकृति कि पिछले तीन दिनों से शराब का अवैध कारोबार फिर से उन्हीं ठीहों के आसपास से शुरू कर दिया गया है। जहां विभाग ने कार्रवाई करके शराब की जब्ती बनाई थी।
कही रूट तो कहीं जगह बदली
शहर और इससे सटे उन इलाकों को पत्रिका ने 15 जनवरी के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया। जहां शराब का काला कारोबार जोर शोर से किया जाता है और हजारों लीटर शराब बेच दी जाती है। अब पुन: देहातों में शराब का कारोबार जोर पकड़ रहा है। इन ठिकानों में वे स्थान और होटल भी शामिल हैं जो बीच बाजार में संचालित किए जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, उनमेें से कुछ स्थानों और आसपास से फिर से शराब का कारोबार शुरू कर दिया गया है। हालांकि समय और सटीक स्थान बदल दिए गए हैं।
नर्मदा किनारे फिर सक्रिय
नर्मदा तट के किनारे रंगरेजघाट, रामबाग, सकवाह एवं पुरवा में संदिग्ध स्थानों और ढाबों में फिर से शराब की बिक्री चोरी छिपे शुरू कर दी गई है। इसके अलावा झूला पुल के आसपास चलते फिरते ठीहे बना दिए गए हैं। आबकारी विभाग ने मानादेई एवं खैरीखापा में कच्ची शराब के अड्डों पर दबिश दी थी और 1320 किलोग्राम महुआ लाहन जब्त किया था। इस क्षेत्र से कुछ ही दूरी पर फिर से कारोबार शुरू कर दिया गया है। इस बारे में जिला आबकारी अधिकारी विभा मरकाम का कहना है कि लगातार दबिश दी जा रही है और शराब के ठिकानों पर कार्रवाई की जा रही है।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned