mp election 2018 : भाजपा प्रत्याशी इस तरह कर रहे प्रचार, यह है उनकी दिनचर्या

चुनाव नजदीक आते ही बदल गई है दिनचर्या

By: shubham singh

Published: 25 Nov 2018, 06:47 PM IST

मंडला। निवास विधान सभा के
भाजपा प्रत्याशी रामप्यारे कुलस्ते
सुबह स्नान ध्यान के बाद प्रचार के
लिए निकलते है। पूरा दिन
जनसंपर्क के बाद वापस रात को
लौटना हो रहा है। चुनाव नजदीक
आते ही दिनचर्या पूरी तरह से बदल
गई है। सुबह का नाश्ता तो घर में हो
जाता है लेकिन दोपहर को भोजन
मिलेगा यह पक्का नहीं रहता।
दोपहर में कार्यकर्ताओं के साथ ही
चाय नाश्ता के बाद पूरा दिन बिता
रहे हैं। जानकारी के अनुसार
रामह्रश्वयारे कुलस्ते अपने हर
कार्यकर्ता का बराबर ख्याल रख रहे
हैं और उन्हीं के साथ लगातार
जनस्पर्क कर लोगों को अपने पक्ष
में मतदान करने के लिए अपील कर
रहे हैं।
खेत से घर तक पहुंचेगा नर्मदा का पानी
सभा के दौरान रामप्यारे कुलस्ते
भाजपा सरकार की योजनाओं को
गिना रहे हैं व ग्रामीणों को लाभ
मिल रहा है या नहीं इसकी भी
जानकारी ले रहे हैं। भाई के
साथ ही काका, दादा जी, जीजा,
नानी, दादी, माताजी आदि संबोधन
के साथ वोट देने की अपील की
जा रही है। सभा के दौरान उन्होंने
मतदाताओं से कहा कि विधायक
बनते ही नर्मदा जल को खेतों के
साथ घर-घर पहुंचने का प्रयास
किया जाएगा। निवास, बीजाडांडी,
मोहगांव के साथ नारायणगंज क्षेत्र
को भी नर्मदा सिंचाई योजना का
लाभ मिल सकेगा।


ये है रामप्यारे कुलस्ते की दिनचर्या
सुबह 5 बजे उठकर स्नान के
बाद पूजा पाठ करते हैं।
चाय नाश्ता के बाद कार्यकर्ताओं
के साथ जनसपंर्क में निकल
जाते हैं।
सुबह 9-10 के बीच
कार्यकर्ताओं के घर में या गाड़ी
में बैठकर हल्का नाश्ता ले रहे
हैं।
दोपहर को कार्यकर्ताओं के साथ
हल्का फूल्का भोजन व नाश्ता ही
कर रहे हैं।
शाम से रात तक लोगों से
जनसंपर्क के बाद वापस 12-
12.30 बजे घर लौटना हो रहा
है।
जहां कुछ समय कार्यकर्ताओं से
आगामी दिन के लिए चर्चा के
बाद घर में ही भोजन के बाद
आराम हो रहा है।
पहनावा : सफेद कुर्ता, पैजामा व
जैकट।
बीजाडांडी क्षेत्र में जनसंपर्क के लिए पहुंचे रामप्यारे कुलस्ते।
जनसंपर्क का तरीका
कुलस्ते सभा के मतदाताओं से अपील कर रहे हैं चिंता करो यार सब,
भाजपा की सरकार बनाना, नरेन्द्र मोदी व शिवराज का साथ देना है,
सबका साथ सब का विकास ही भाजपा की पहली प्राथमिकता है।
बुजुर्गों का पैर छूकर आशीर्वाद ले रहें है तो युवाओं को गले भी लगा
रहे हैं। रिश्तेदारों के यहां बैठकर समय बीतने में भी पीछे नहीं हैं।

shubham singh Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned