मेडिकल फिटनेस के बदले रिश्वत लेते सिविल सर्जन गिरफ्तार

लोकायुक्त की कार्रवाई, पीडि़त ने की थी शिकायत

मंडला। लंबे अरसे से बीमार चल रहे रामकुमार भरतिया पिता इमरत लाल मोहगांव विकासखंड के ग्राम खमरिया निवासी है और घुघरी तहसील स्थित पाखा टोला उमरिया के प्राथमिक शाला में अध्यापक के पद पर पदस्थ है। अपनी बीमारी से जूझते हुए लगातार उपचार कराने के बाद जब रामकुमार की सेहत में सुधार आया तो अपने कार्य में वापसी के लिए उसे मेडिकल फिटनेस की आवश्यकता पड़ी। रामकुमार जिला चिकित्सालय में पदस्थ सिविल सर्जन और आर्थोपेडिक स्पेशलिस्ट डॉ महेंद्र तेजा के पास गया ताकि मेडिकल फिटनेस का प्रमाणपत्र ले सके। फिटनेस प्रमाणपत्र देने के लिए सिविल सर्जन महेंद्र तेजा ने उससे 17 हजार 500 रुपए की मांग की और पहली किस्त के रूप में 5 हजार रुपए की राशि निर्धारित की।इस बात की शिकायत रामकुमार ने लोकायुक्त से की। 4 दिसंबर को जब पीडि़त रामकुमार सिविल सर्जन को रिश्वत के 5 हजार रुपए देने पहुंचा तो वह राशि सीएस तेजा ने अपने सहयोगी मनोज कुमार विश्वास को दिलाए। स्थानीय रोजगार कार्यालय के पास स्थित निजी क्लिनिक में उक्त राशि ली गई। कार्रवाई के दौरान टीम के सदस्य के रूप में उप पुलिस अधीक्षक जेपी वर्मा, निरीक्षक कमल सिंह उईके, आरक्षक दिनेश दुबे , आरक्षक अमित गावडे , आरक्षक शरद पांडे , आरक्षक विजय सिंह बिष्ट , आरक्षक चालक राकेश कुमार विश्वकर्मा शामिल रहे।

Sawan Singh Thakur
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned