सड़क निर्माण कंपनी पर एफआईआर की मांग

कांग्रेस प्रदेस सचिव ने सौंपा ज्ञापन

By: Mangal Singh Thakur

Published: 06 Apr 2021, 05:20 PM IST

मंडला. शनिवार को बबैहा पुल से कार सहित गिरने पर हुई दो युवकों की मौत पर सड़क निर्माण कंपनी पर एफआईआर की मांग को लेकर प्रदेश कांग्रेस सचिव संजय सिंह परिहार के नेतृत्व में सोमवार को ज्ञापन सौंपा गया है। सभी कांग्रेसी कोतवाली के सामने एकत्रित हुए और कलेक्टर के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। जिसमें मृतकों के परिवार को मुआवजा दिलाने व सड़क निर्माण कंपनी पर एफआईआर दर्ज कराने की मांग की गई है। गौरतलब है कि उदयपुर से फूलसागर तक नेशनल हाइवे का काम पिछले 6 साल से किया जा रहा है। लेकिन अब तक काम पूरा नहीं हुआ है। आधी अधूरी सड़क के कारण आए दिन हादसे हो रहे हैं। कांग्रेस प्रदेश सचिव संजय सिंह परिहार का कहना है कि जबलपुर मंडला राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण कार्य जीडीसीएल एजेंसी के द्वारा किया जा रहा है। जिस कंपनी को निर्माा कार्य का कान्ट्रेक्ट दिया गया है उनके द्वारा बहुत धीमी गति से निर्माण कार्य कराया जा रहा है। वर्तमान समय में उक्त मार्ग से अवागमन तो दूभर है साथ ही दुर्घटना के साथ साथ चाहे जब जाम की स्थिति बनी रहती है। फूलसागर, बबैहा, पदमी, नारायणगंज, एवं हिंगना नाला, बीजाडांडी में क्षतिग्रस्त पुलों का रिपेरिंग का कार्य कंपनी के ठेकेदार द्वारा किया जा रहा है। निर्माण स्थानों में न तो बेरीकेट्स हैं और न ही संकेत चिन्ह लगे हुए हैं। जिससे वाहन चालकों को वाहन नियंत्रित करने में दिक्कत होती है। शनिवार की रात्रि को हुई दुर्घटना की जांच कराकर निर्माण में दोषी व्यक्ति एजेंसी, कंपनी के ऊपर आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने एवं मृतकजनों के परिजन को मुआवजा राशि प्रदान करने की मांग की गई है। ज्ञापन सौंपने के दौरान वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेन्द्र राजपूत, संतोष मिश्रा, राजेश कछवाहा, शिवराज कछवाहा, अमित शुक्ला, दीपेश बाजपेयी, धर्मेन्द्र श्रीवास्तव, अखिलेख कछवाहा, नफीक मंसूरी, दीपक बैरागी, रंजीत उईके, प्रदीप खरबंदा, रवि ठाकुर, बेनीश्याम राय, बूटा सिंह गिरेवाल, संजय चौरसिया आदि मौजूद रहे।

रेस्क्यू टीम को दिलाई जाए सुविधा
निवास विधायक डॉ अशोक मर्सकोले ने भी कलेक्टर और एसपी को पत्र लिखा है। जिसमें सड़क निर्माण कंपनी के जिम्मेदारों पर एफआईआर के साथ ही एसडीईआरएफ को सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की गई है। जिसमें बताया किया कि बबैहा पुल में गाड़ी गिरने के 17 घंटे बाद निकाला गया। जिले में अक्सर ऐसी घटनाएं होती आ रही हैं। जिले बड़े पैमाने पर कुंए, तालाब, नदी, बांध एवं डूब क्षेत्र का एरिया है। जिसमें आए दिन घटनाएं होती रहती है। पर मंडला एसडीईआरएफ की टीम बिना सुविधाओं की जैसे ऑक्सीजन सिलेंडर, लाईट बोट एवं प्रशिक्षित स्टाफ की कमी से रेस्क्यू व्यवस्था में देरी होती है। जिसको लेकर रेस्क्यू टीम को सभी सुविधा दिलाने की मांग की गई है।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned