सोम को सोमनाथ की आराधना के लिए जुटेंगे भक्त

रुद्राभिषेक, अखंड महामृत्युंजय पाठ तो कहीं निकलेगी शिवबारात

By: Mangal Singh Thakur

Published: 03 Mar 2019, 11:44 AM IST

मंडला. जिला मुख्यालय सहित आसपास क्षेत्र में महाशिवरात्रि पर्व के मद्देनजर शिवालयों में तैयारियां लगभग पूर्ण हो गई हैं। मंदिरों की सफाई के साथ रंग-रोगन का कार्य पूर्ण हो चुका है। सभी स्थानों पर बिजली व फूल-पत्तियों से सजावट होगी। महाशिवरात्री पर्व को लेकर शिव भक्त काफी उत्साहित दिख रहे हैं। शिवरात्रि पर्व को लेकर शिव भक्तों में जोश है। कहा जाता है कि इस दिन जो भी भक्त शिव भगवान की सच्चे मन से पूजा-अर्चना करते हैं, उनकी मनोकामना पूर्ण होती हैं। इससे वातावरण शिवमय हो गया है। चार मार्च को होने वाले महाशिवरात्रि को कहीं भजन संध्या, रुद्राभिषेक, अखंड महामृत्युंजय पाठ, हवन कार्यक्रम तो कहीं भगवान भोलेनाथ की बारात निकाली जाएगी। इस अवसर पर बस स्टैंड, रपटा घाट, किलावार्ड, हनुमान घाट, बड़ी खैरमाई बिंझिंया आदि स्थानों पर लोग तैयारी में जुटे दिख रहे हैं। पं श्रीराम चन्द्र तिवारी के अनुसार इस वर्ष सोमवार 4 मार्च को 4.11 बजे से चतुर्दशी तिथि लग रही है जो मंगलवार 5 मार्च शाम 6.18 तक रहेगी। अर्ध रात्रि व्यापिनी ग्राह्य होने से यानी मध्यरात्रि और चतुर्दशी तिथि के योग में 4 मार्च को ही महाशिवरात्रि मनाई जाएगी।
इस साल महाशिवरात्रि पर दुर्लभ संयोग बन रहा है। महाशिवरात्रि सोमवार को है। सोमवार का स्वामी चन्द्रमा है, ज्योतिष शास्त्र में चन्द्रमा को सोम कहा गया है और भगवान शिव को सोमनाथ अत: सोमवार को महाशिवरात्रि का होना बहुत ही शुभ माना गया है। सोमवार को शिवजी की पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं।
जिले में महाशिवरात्री का पर्व धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। इस दौरान जगह-जगह धार्मिक अनुष्ठान किए जाएंगे। सिध्द टेकरी बड़ी खैरी में चार माह पूर्व से प्रारंभ रामचरित अखंड मानस पाठ का समापन महाशिवरात्री के दिन किया जाएगा। इसके बाद सुन्दरकांड रामधुन का पाठ किया जाएगा एवं महाप्रसाद का वितरण किया जाएगा। साथ ही मेला भी बड़े धूम धाम के साथ लगाया जाएगा। समिति द्वारा सभी धर्म प्रेमियों से अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने की अपील की है। इसके साथ ही जिला पंचायत भवन के सामने स्थापित हनुमान लला एवं शिव शेष नाग मंदिर में ४ मार्च को सुबह से रात तक धार्मिक अनुष्ठान होंगे। दोपहर १२ बजे से महा रुद्राभिषेक का आयोजन समस्त भक्तों के सहयोग से किया जाएगा। यह आयोजन वर्ष 1993 से अनवरत भक्तों के द्वारा किया जा रहा है। पूजन, आरती, प्रसादी एवं शिव भजनों की प्रस्तुति के साथ ही सोमवार को पंडित रामनाथ शास्त्री के द्वारा महा रुद्राभिषेक व हवन कराया जाएगा। मनोज साहू और उनकी मंडली के द्वारा संध्या काल में शिव भजनों की प्रस्तुति एवं दीपदान भी किया जाएगा।
बम्हनीबंजर में जय माता दी आरती समिति द्वारा लगातार 6 वर्षो से महाशिवरात्रि के पवन पर्व पर नगर की सुख शन्ति के लिए विशाल कांवड़ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। इस वर्ष भी 4 मार्च को महाराजपुर से कावड़ यात्रा प्रारंभ होगी।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned