51वीं रैंकिंग में तीसरे स्थान पर पहुंचा जिला

जोड़े गए 36 हजार नए सदस्य

By: Mangal Singh Thakur

Published: 17 Sep 2020, 04:11 PM IST

मंडला. नवीन परिवार को पात्रता पर्ची की स्वीकृति एवं राशन प्राप्त कर रहे परिवार में नए सदस्य की स्वीकृति की जिलेवार रैंकिंग में मंडला जिला तीसरे स्थान पर पहुंच गया। शुरूआत में यह रैंकिंग 51 वीं थी, लेकिन अब 36 हजार नए नाम जोडऩे के बाद जिला तृतीय स्थान पर काबिज हुआ है। बुधवार को जिला स्तरीय पात्रता पर्ची एवं खाद्यान्न वितरण समारोह में यह बात राज्यसभा सांसद संपतिया उइके ने कही। रानी दुर्गावती शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के सभाकक्ष में सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें राज्य सभा सासंद सम्पतिया उइके ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार जन कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से समाज के सभी वर्गों के उत्थान का प्रयास कर रहीं हैं। सरकार गरीबों की सहायता कर उन्हें विकास की मुख्य धारा से जोडऩे के लिए संकल्पित है इसी क्रम में पात्रता पर्ची के माध्यम से गरीब परिवारों को एक रुपए किलो गेहूं, चावल एवं नमक दिया जाएगा। इस समारोह में जिला पंचायत अध्यक्ष सरस्वती मरावी, कलेक्टर हर्षिका सिंह, सीईओ जिला पंचायत तन्वी हुड्डा, अपर कलेक्टर मीना मसराम, नगरपालिका उपाध्यक्ष गिरीश चंदानी, समाजसेवी भीष्म द्विवेदी, सरपंच सोनू भलावी सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा हितग्राही उपस्थित रहे।
कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि उन परिवारों को भी पात्रता पर्ची का लाभ मिलेगा जो पात्र होते हुए भी अब तक लाभ से वंचित रहे हैं। प्रत्येक पात्र परिवार को समयसीमा में गुणवत्तापूर्ण खाद्यान्न की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए जिला प्रशासन संकल्पित है। जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत एवं पीडीएस दुकानों में आयोजित कार्यक्रमों के माध्यम से जिले में 36 हजार नवीन हितग्राहियों को पात्रता पर्ची का वितरण किया जा रहा है। नवीन परिवारों को पात्रता पर्ची की स्वीकृति एवं राशन प्राप्त कर रहे परिवार में नए सदस्य की स्वीकृति की जिलेवार रैंकिंग में मंडला जिला प्रदेश में तीसरे स्थान पर है। पात्रता पर्ची वितरण की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि यह एक सतत प्रक्रिया है, जो लोग छूट गए हैं उन्हें नियमानुसार पात्रता पर्ची दिलाने की कार्यवाही की जाएगी।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned