scriptDiyas were lit in honor of the revolutionaries | क्रांतिवीरों के सम्मान में जलाये गये दिये | Patrika News

क्रांतिवीरों के सम्मान में जलाये गये दिये

स्वाधीनता के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में दी श्रद्धांजलि

मंडला

Updated: November 26, 2021 08:24:30 pm

मंडला. 24 नवम्बर की देर शाम नगर के हृदय स्थल बड़ चौराहे में उन बेनाम क्रांतिवीरों के सम्मान में दीप जलाये गये जो इतिहास में कहीं गुम होकर रह गये थे। स्वाधीनता के अमृत महोत्सव अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रम पिछले समय से आयोजित किए जा रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान लोगों को बताया गया कि 1857 की क्रांति से सभी देशवासी परिचित हैं। नगरवासी इस सबसे अब तक अंजान थे कि 1857 में हमारे नगर के वीरों ने भी आजादी के लिए न केवल संग्राम किया बल्कि एकजुटता दिखाकर अंग्रेजों को परास्त भी किया था। इस दौरान अधिकांश वीर देश के आजादी के लिए शहीद भी हुए। इन क्रांतिवीरों को अंग्रेजों द्वारा बड़ चौराहे के उस बरगद के वृक्ष में फांसी पर लटका दिया जाता था जो आज भी जीवंत इतिहास के रूप में हमारे समक्ष मौजूद हैं। इसी बरगद के वृक्ष तले उन अनाम क्रांतिवीरों को नगरवासियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की और उनकी याद में दीये जलाये गये।
कार्यक्रम के प्रारंभ में नगरवासियों द्वारा इन क्रांतिवीरों के सम्मान में बरगद के वृक्ष के नीचे दीप प्रज्जवलन किया गया और दीपों की एक श्रंृखला बड़ चौराहे से लेकर जयस्तंभ उदय चौक तक जारी रही। महिलाओं ने दीपों को आसपास स्थापित दुकानों में भी क्रांतिवीरों की याद में सम्मान करते हुए रखा। कार्यक्रम में सहयोग करते हुए इन दुकानदारों ने पहले से ही इन शहीदों की याद में अपनी दुकानों में दिये जलाकर रखे हुए थे।
क्रांतिवीर पुण्यस्मृति कार्यक्रम समिति के प्रमुख हीरानंद चंद्रवंशी ने दीप प्रज्जवलन के बाद इस पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा और आवश्यकता के बारे में विस्तार से बताया कि 1857 माह नवंबर में मंडला के वीर योद्धाओं ने अपने अदम्य साहस के साथ आधुनिक हथियारों का सामना धनुष बाण, तलवार, भाला जैसे परंपरागत हथियारों से करते हुए अंग्रेजों को भागने पर मजबूर कर दिया। 18 सितंबर 1857 जबलपुर की घटना के बाद क्रांतिकारियों में एक नया जोश भर गया और शाहपुरा, सुहागपुर, अमरपुर, मुकाश के जमींदारों ने अपनी सेना के साथ मंडला में 24 नवंबर को आक्रमण कर दिया। लेकिन नवीन आग्नेय अस्त्रों का सामना नहीं कर सके। अंग्रेजों ने क्रांतिकारियों को खदेड़ दिया और जो 21 वीर डटे रहे वे पकड़े गये। दूसरे दिन यानी 25 नवंबर को खुमान सिंह एवं विजय सिंह की सेना ने तत्कालीन डिप्टी कमिश्नर वडिंगटन को खदेड़ दिया। वह डर कर भाग गया तहसीलदार को अपने पीछे छोड़ गया। डर के कारण तहसीलदार भी भाग गया और केवल 10 पुलिस के हाथों मंडला की कमान सौंप दी। आधे पुलिस वाले तो डर कर भाग गये। शेष क्रांतिकारियों के साथ शामिल हो गए। मंडला स्वतंत्र हो चुका था। ऐसे कई गुमनाम वीर शहीदों की स्मृति में आज हम सभी उन्हें याद करने सम्मान देने यहां एकत्रित हुए हैं। स्वाधीनता का अमृत महोत्सव में ऐसे ही गुमनाम क्रांति वीरों के इतिहास की खोज मंडला के इतिहासकारों एवं गजेटियर तथा तात्कालीन डिप्टी कमिश्नर द्वारा लिखे गये पत्रों से की गई है।
कार्यक्रम स्थल पर उस समय के घटनाक्रम से संबंधित जो पेंटिंग लगाई गई है वह नगर के ही चित्रकार अशोक सोनवानी द्वारा कार्यक्रम के लिए विशेष रूप से बनाई गई है। इसके साथ ही नगर के समाजसेवी बैशाखू नंदा ने श्रद्धांजलि कार्यक्रम के दौरान क्रांतिवीरों के याद में एक गीत प्रस्तुत किया। आजादी की अलख जगाता और क्रांतिकारियों को श्रद्धांजलि देते इस गीत की रचना नगर के ही कलाकार श्याम बैरागी ने की है। जानकारी दी गई है कि आगामी दिनों में क्रांतिवीर पुण्यस्मृति कार्यक्रम के अंतर्गत अन्य आयोजन भी किये जाने हैं जिनमें संगोष्ठियां, नुक्कड़ नाटक एवं एक मंचीय कार्यक्रम भी होगा जिसमें इस घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले विशेष वक्तागण मौजूद रहेंगे।

Diyas were lit in honor of the revolutionaries
Diyas were lit in honor of the revolutionaries

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.