पत्नी से प्रताडि़त होकर दर्जनों पुरुष ने की शिकायत

परिवार परामर्श केंद्र में महिलाओं से अधिक लंबी पुरुषों की कतार

By: Sawan Singh Thakur

Published: 03 Dec 2019, 05:48 PM IST

मंडला। आमतौर पर यही सुनने को मिलता है कि पुरुष द्वारा अपनी पत्नी को प्रताडि़त किया जाता है लेकिन आदिवासी बहुल्य जिले में वास्तविकता इसके बिल्कुल उलट है। यहां पुलिस की शाखा परिवार परामर्श केंद्र मेें पहुंचने वाले पीडि़तों में महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों की कतार अधिक लंबी है। इतना ही नहीं, परिवार परामर्श केंद्र की स्थापना का जो मुख्य उद्देश्य है कि किसी भी तरह समझा बुझाकर पति-पत्नी के बीच के मनमुटाव को कम किया जाए ताकि वे पुन: एक खुशहाल दांपत्य जीवन बिता सकें। अपनी पत्नी से पीडि़त पुरुषों के मामले को सुलझाने में परिवार परामर्श केंद्र का उद्देश्य भी तुलनात्मक रूप से अधिक सफल नहीं कहा जा सकता क्योंंकि यहां भी शिकायत करने वाली महिलाओं में अधिकतर मनमुटाव को भुलाकर पुन: दांपत्य जीवन में आगे बढ़ जाती है वहीं इसके ठीक उलट पत्नी की शिकायत लेकर परिवार परामर्श केंद्र का सहारा लेने वाले पुरुष दोबारा अपने दाम्पत्य जीवन में लौटने से मुकर रहे हैं।
पुष्टि कर रहे हैं आंकड़े
जनवरी 2019 से अक्टूबर माह तक 175 पुरूषों ने यहां आवेदन दिए हैं। पुरूष आवेदकों के आवेदनों पर 49 मामलों में समझौता पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र की समझाईश के बाद करा दिया गया। 54 जोड़ों को कानूनी परामर्श की सलाह दी, 12 मामलों में स्वेच्छा से अलगाव हो गया और 53 मामलों को निरस्त कर दिया क्योंकि कई बार महिला या पुरूष आवेदक को बार-बार जानकारी देने के बाद भी जब पेशी में वे नहीं पहुंचते तो मामले को निरस्त कर दिया जाता है। 7 मामले अब तक लंबित बताए गए हैं.
अब तक जनवरी से अक्टूबर माह 2019 तक कुल 148 महिलाओं ने पतियों की शिकायत यहां की है जिसमें 58 मामलों में समझौता पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र की समझाईश के बाद करा दिया गया। 42 जोड़ों को कानूनी परामर्श की सलाह दी, 6 मामलों में स्वेच्छा से अलगाव हो गया। 32 मामलों को निरस्त कर दिया गया और 10 मामले अब तक की स्थिति लंबित बताए गए हैं.
कभी मोबाईल तो कभी शराब से विवाद
पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र में पीडि़त महिला या पुरूष जिन समस्याओं को लेकर यहां आवेदन दे रहे हैं। उसमें कई कारणों में मोबाईल और शराब को भी अधिक जिम्मेदार बताया जा रहा है। परामर्श केन्द्र सदस्यों ने बताया कि आवेदक पुरूषों द्वारा कई बार शिकायत की जाती है कि उनकी पत्नी लगातार मोबाईल से अपने मायके में ससुराल की हर छोटी-बड़ी बातों को बताती है। इतना ही नहीं मोबाईल चलाने की आदत में वे घर के रोजमर्रा के कामों पर ध्यान नहीं देती। दूसरी ओर महिलाओं द्वारा जो कारण बताए जा रहे हैं उनमें उनके पति द्वारा शराब पीकर मारपीट करना, या फिर अन्य किसी महिला के साथ संबंध की शंका के चलते यहां शिकायत दर्ज कराई जा रही है।

Sawan Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned