scriptDrain water reached the shop before the rain | बारिश के पहले दुकान में पहुंचा नाली का पानी | Patrika News

बारिश के पहले दुकान में पहुंचा नाली का पानी

पंचायत सचिव की मनमानी से ग्रामीण परेशान

मंडला

Updated: June 13, 2022 05:29:49 pm

मंडला. स्वच्छता पर हजारों रुपए पानी की तरह बहाने के बाद भी ग्रामीण क्षेत्रों के हालात नहीं बदले हैं। इसका ताजा उदाहरण ग्राम पंचायत माधोपुर का देखने में आया है। यहां नालियों का पानी सडक़ से होकर बह रहा है इसके साथ ही कई दुकानों में नाली का पानी प्रवेश करने से ग्रामीण परेशान है। वहीं, मुख्य मार्ग पर कचरा के ढेर लगे हैं, जिससे राहगीरों को आने-जाने में असुविधा हो रही है। इसके बाद भी ग्राम पंचायत के जिम्मेदार बेपरवाह बने हुए हैं।
ग्राम पंचायत में स्वच्छता पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यहां के अधिकतर मुहल्लों में साफ-सफाई का बुरा हाल है। जहां गांव के मुख्य मार्ग पर कचरा फैला है तो नालियों का पानी सडक़ से होकर बह रहा है। वहीं, नालियों का गंदा पानी वाहन चालकों व राहगीरों के लिए परेशानी का सबब बन गई हैं। इसके साथ ही कई दुकानों में भी नाली का गंदा पानी प्रवेश कर रहा है जिसके चलते दुकान संचालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अब तक कई वाहन सवार आवाजाही के दौरान फिसलकर चोटिल हो चुके हैं। इसके बाद भी जिम्मेदार बेपरवाह हैं। वार्ड नंबर 6 में समस्या गम्भीर है। यहां नालियों की नियमित सफाई नहीं होने के के कारण जलभराव की स्थिति निर्मित हो रही है गंदा पानी आसपास की दुकानों में प्रवेश कर रहा है चारों तरफ बदबू फैली हुई है जिसके चलते रहवासियों के साथ-साथ व्यापारियों को भी परेशानी हो रही है उधर आचार संहिता लागू होने के चलते जनप्रतिनिधि कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं इसके साथ ही पंचायत के सचिव से जब पंचायत में फैली गंदगी के बारे में जानने का प्रयास किया गया तो उनके द्वारा फोन नहीं उठाया गया।
गांव में गंदगी की वजह से पैदल चलना दूभर हो गया है। गांव में आबादी के अनुरूप कम से कम दो सफाई कर्मी तैनात होना चाहिए।
राजेश चौरसिया, स्थानीय निवासी।
&गांव में पसरी गंदगी के संबंध में कई बार पंचायत कर्मियों को अवगत करा चुके हैं, इसके बावजूद हालात जस की तस बने हैं। जिससे लोगों में पंचायत सचिव के प्रति असंतोष पनप रहा है
विजय तिवारी, स्थानीय निवासी।
&गांव को स्वच्छ बनाने में सफाई कर्मी की अहम भूमिका होती है। इसके बाद भी गांव में सफाई कर्मी की तैनाती नहीं है। जिससे सफाई व्यवस्था बुरी तरह चरमराई हुई है।
राना पटेल, स्थानीय निवासी।
&पंचायत के सचिव को कई बार इस समस्या से अवगत कराया गया है बावजूद इसके सचिव द्वारा किसी भी प्रकार का काम नहीं कराया जा रहा जिससे परेशानी हो रही है।
संजू पटेल, स्थानीय निवासी। -

नालियों का पानी बह रहा सडक़ में, जिम्मेदार नही दें रहे ध्यान
नालियों का पानी बह रहा सडक़ में, जिम्मेदार नही दें रहे ध्यान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' के मामले में 7 राज्यों ने किया बढ़िया प्रदर्शन, जानें किस राज्य ने हासिल किया पहला रैंक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.