scriptDue to the scarcity of water, the villagers are quenching their thirst | पानी की किल्लत के कारण मवेशियों के पानी से बुझा रहे ग्रामीण अपनी प्यास | Patrika News

पानी की किल्लत के कारण मवेशियों के पानी से बुझा रहे ग्रामीण अपनी प्यास

चुनाव बहिष्कार की दी चेतावनी

मंडला

Published: May 27, 2022 03:33:10 pm

मंडला/निवास. आज भी ग्रामीण क्षेत्र में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है जिला प्रशासन भले ही घर-घर तक पेयजल पहुंचाने की बात करके कार्य कर रहा हो, लेकिन भीषण गर्मी में ऐसे भी क्षेत्र हैं जहां मवेशियों के पीने लायक पानी से लोग अपनी प्यास बुझा रहे हैं। ऐसा ही मामला निवास से 18 किलोमीटर की दूरी पर देखने को मिल रहा है। जहां तीन दर्जन से अधिक परिवार के लोग मवेशियों के साथ एक झिरिया से अपनी भी प्यास बुझा रहे हैं। इसके लिए भी उन्हें दो किलोमीटर घाट व उबड़-खाबड़ रास्ते से गुजरना पड़ता है। प्रशासन से पेयजल की व्यवस्था कराने की गुहार लगाते लगाते थक चुके ग्रामीणों ने अब उम्मीद भी छोड़ दी है। यही कारण है कि दूषित पानी पीने के लिए भी चंदा एकत्रित कर झिरिया की मरम्मत करा रहे हैं। हम बात कर रहे हैं ग्राम पंचायत मसूर घुघरी के पोषक ग्राम डिप्पा टोला की। जहां ग्रामीण वर्षों से ग्रीष्म काल में दूषित पानी पीने के लिए मजबूर हो जाते हैं।
जानकारी के अनुसार निवास मुख्यालय से 18 किलोमीटर दूरी पर स्थित जनपद अध्यक्ष के गृह ग्राम मसूर घुघरी के पोषक ग्राम डिप्पा टोला में पानी के लिए ग्रामीण जल संकट से जूझ रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया ग्राम पंचायत के साथ स्थानीय प्रशासन को अवगत कराया गया हैं लेकिन किसी का ध्यान नहीं है। समस्या भले दो चार माह की हो लेकिन गंभीर तो है।
बैठक में आपसी सहयोग की बनाई योजना
जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से उम्मीद छोड़ चुके ग्रामीणों ने अपनी समस्या का हल करने का जिम्मा खुद उठा लिया है। इसके लिए युवा भी आगे आ रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि कुछ दिन पहले ग्राम के एक घर में बैठक आयोजित की गई। बुजुर्गों से मार्गदर्शन लेकर चंदा एकत्रित करने का निर्णय लिया गया। गांव में 40 परिवार हैं जिनसे 35 हजार रुपए चंदा की राशि एकत्रित की गई। इसके बाद वर्ष 2091-92 में बने डेम को गहरा कराया गया। डेम के बीच में झिरिया बनाई गई जहां से डेम में भरे पानी से कुछ साफ पानी झिरिया में पहुंचने लगा। जिसका उपयोग ग्रामीण अब पीने के पानी के लिए कर रहे हैं। इतना ही नहीं डेम में बचे पानी का उपयोग मवेशी पीने के लिए करते हैं।
गर्मी में ही बढ़ती है समस्या
ग्रामीणों ने बताया की ग्राम में दो हैंडपंप और दो कुआं हैं। जलस्तर कम होने के कारण दोनों हैंडपंप बंद हो गए हैं। एक कुआं पूरी तरह से सूख गया है। दूसरे कुआं में थोड़ा बहुत पानी है लेकिन गंदगी के कारण व पीने योग्य नहीं है। ऐसे में ग्रामीणों के पास डेम के पानी का ही विकल्प बच जाता है। जहां नाम मात्र का पानी है। इसी में ग्रामीणों ने झिरिया का निर्माण किया है। सार्वजनिक कार्यक्रम होने पर निजी टैंकर से पानी खरीदना पड़ता है। सिर्फ पानी की ही नहीं गांव में मार्ग की समस्या भी गंभीर है। ग्रामीणों ने बताया कि बारिश के चार माह जब डेम और कुआं में पानी आ जाता है तो सड़क की समस्या झेलनी पड़ती है। कच्ची सड़क के कारण कीचड़ मच जाता है। जिससे गांव तक कोई वाहन नहीं पहुंच पाता। यहां तक की एम्बुलेंस भी नहीं पहुंचता। खाट के माध्यम से प्रसुताओं व गंभीर मरीजों को मुख्य मार्ग तक पहुंचाना पड़ता है। भले ही प्रशासन पंचायत चुनाव की तैयारी में जुट गया है। लेकिन चुनाव को लेकर ग्रामीणों में उत्साह नहीं है। बल्कि ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार करते हुए जनपद मुख्यालय पहुंचकर प्रदर्शन करने की बात कही है।
इनका कहना
मेरे संज्ञान में यह मामला पहली बार आया है। मैने पंचायत इंस्पेक्टर को बोल कर टैंकर के माध्यम से परिवहन करने की बात कही है ओर मौके पर जाकर निरीक्षण करने को कहा हैं। यथा स्थिति जानने के बाद समस्या दूर करने का प्रयास किया जाएगा।
दीप्ति यादव, जनपद सीईओ निवास
झिरिया बांध का गहरी करण के लिए प्रस्ताव पारित किया गया है। एक सार्वजनिक कुआं का निर्माण कराया गया था लेकिन चट्टान के कारण जल स्त्रोत नहीं मिल सका। पीएचई विभाग को सर्वे के लिए बोला था, विभाग ने सर्वे नहीं किया। पेयजल उपलब्ध कराने प्रयास किया जाएगा।
बाल कन्हैया भवेदी, जनपद अध्यक्ष निवास

पानी की किल्लत के कारण मवेशियों के पानी से बुझा रहे ग्रामीण अपनी प्यास
पानी की किल्लत के कारण मवेशियों के पानी से बुझा रहे ग्रामीण अपनी प्यास

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Udaipur Murder: कन्हैया के परिवार को 31 लाख मुआवजे का ऐलान, आतंकी हमले की आशंका से केंद्र ने Rajasthan भेजी NIA की टीमएसआइटी जांच,  एक माह तक धारा 144, 24 घंटे इंटरनेट बंदUdaipur Murder Case: पूरे देश में तनाव का माहौल, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा- CM Ashok Gehlot, देखें Video...Maharashtra Political Crisis: देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से की मुलाकात, जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराने की मांग कीदिल्ली के मंगोलपुरी में फैक्ट्री में लगी आग, दमकल की 26 गाड़ियां मौके परन्यायाधीश ने दो घंटे मोबाइल की टॉर्च की रोशनी में की सुनवाईटीम इंडिया ने आयरलैंड का सपना तोड़ा, दूसरे टी-20 में 4 रन से हराकर सीरीज में किया क्लीन स्वीपदीपक हुडा ने टी-20 इंटरनेशनल करियर का लगाया पहला शतक, आयरलैंड के गेंदबाजों की उड़ाई धज्जियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.