जिले से जारी होंगे शिक्षकों के एम्पलाइ कोड

जिले से जारी होंगे शिक्षकों के एम्पलाइ कोड

By: ajay gupta

Published: 21 May 2020, 09:13 PM IST

मंडला। आदिवासी विभाग मध्यप्रदेश द्वारा अध्यापक संवर्ग से शिक्षण संवर्ग में संविलियत शिक्षकों का एम्पलाई कोड जिला कोष एवं लेखा द्वारा जारी करने के निर्देश जारी किए गए हैं। गौरतलब है कि अध्यापक संवर्ग से नवीन शिक्षण संवर्ग में संविलियन के बाद शिक्षा विभाग के शिक्षकों का डाटा एजुकेशन पोर्टल तथा ट्रायबल विभाग के शिक्षकों का डाटा एमपीटॉस में पंजीयन करने के बाद एम्पलाइ कोड जारी कर आइएफएमआइएस से वेतन देना एक चुनौती भरा काम था। जिसमें नवगठित ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांत अध्यक्ष डीके सिंगौर, महासचिव सुरेश यादव आदि पदाधिकारियों ने आदिवासी विकास की आयुक्त दीपाली रस्तोगी को उचित सहयोग करते हुए ट्राईबल विभाग के अध्यापकों का डाटा उपलब्ध कराकर एमपीटास से एमप्लाई कोड जारी आइ एफ एम आइएस से वेतन भुगतान कराया। जिसमें कुछ महीनों तक ट्रायबल विभाग के शिक्षकों को वेतन संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ा। शिक्षा विभाग में अभी भी शिक्षकों का डाटा एजुकेशन पोर्टल दर्ज नहीं किया जा सका है। शिक्षा विभाग में प्रोफाइल पंजीयन का शुरुआती काम प्रारंभ किया गया है। जिसे देखते हुए शिक्षा विभाग में एमप्लाई कोड जारी होने में काफी समय लगने की संभावना है।
ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांतीय प्रवक्ता संजीव सोनी ने बताया कि ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रयास से ट्राइबल विभाग के लगभग 55 हजार शिक्षकों का एम्पलाई कोड जारी कर आई एफएमआईएस से वेतन भुगतान शुरू हो चुका है। फिर भी तकनीकी समस्या एवं व्यक्तिगत कारणों से कुछ गिने-चुने शिक्षकों का एम्पलाई कोड जारी नहीं हो सका। तकनीकी कारणों से शिक्षकों द्वारा समय पर डाटा उपलब्ध नहीं कराए जाने एवं कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लॉक डाउन के कारण भोपाल से एम्पलाई कोड जारी ना होकर जिला कोष एवं लेखा द्वारा जारी करने का आदेश दिए गए हैं। लेकिन जिला स्तर पर भी एम्पलाई कोड जारी होने में कुछ तकनीकी दिक्कतें आ रही हैं, जिसके लिए ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांत अध्यक्ष डीके सिंगौर ने संचालक कोष एवं लेखा मध्यप्रदेश भोपाल को पत्र लिखकर अवगत कराया कि डीडीओ के लागिन से मास्टर डाटा एम्पलाई प्रपत्र को भरने पर कुछ दिक्कतें आ रही हैं, जैसे कि पैन नंबर की एंट्री में अंक टाइपिंग नहीं होना, नॉमिनी को भरने करने में दिक्कत आना, अंत में फार्म सेव नहीं होना इत्यादि। साथ ही एसोसिएशन ने मांग की है कि संविलियत शिक्षकों के लिए मास्टर डाटा फॉर्म को अपडेट किया जाए ताकि एम्पलाई कोड से वंचित शिक्षक डीडीओ से फॉर्म भर कर एम्पलाई कोड की कार्यवाही पूर्ण की जा सके।

ajay gupta Photographer
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned