जेल में बंद कैदियों से परिजन की मुलाकात अब तकनीक के सहारे

मुख्यालय स्थित जिला जेल में शुरू होगी ई-मुलाकात सुविधा

By: Mangal Singh Thakur

Published: 10 Sep 2020, 09:38 PM IST

मंडला. कोरोना संकट के कारण जिले में कैदियों से मुलाकात की व्यवस्था 23 मार्च से स्थगित कर दी गई है। जेल प्रशासन ने उक्त तिथि से स्थगित मुलाकाती व्यवस्था को आधार मानकर परिजनों के प्रवेश पर रोक लगा रखी है। इससे एक ओर जेल में बंद कैदियों के मानसिक रूप से पीडि़त होने और अपने परिजनों को लंबे अरसे तक न देख पाने के कारण अवसाद में आने की आशंका बढ़ गई है। यही वजह है कि जिला जेल मंडला में बंदियों की उनके परिजनों से मुलाकात के लिए ई-मुलाकात सुविधा आरंभ की जा रही है। इस सुविधा शुरू होने से बंदी और उनके परिजन एक-दूसरे को सामने देख सकेंगे।
इस संबंध में उप अधीक्षक जिला जेल अनिल अग्रवाल ने बताया कि कोरोना (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव के लिए वर्ष 2020 के मार्च माह से 31 अक्टूबर तक के लिए बंदियों की परिजनों से मुलाकात पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जिससे लगभग पिछले 6 माह से बंदी एवं परिजन एक दूसरे को नहीं देख सके हैं। सिर्फ इनकमिंग टेलीफोन (07642-254253, 250172) के माध्यम से बंदी अपने परिजनों से बात कर पा रहे हैं।
उप अधीक्षक अग्रवाल ने बताया कि टेलीफोन के अतिरिक्त बंदियों की उनके परिजनों से मुलाकात के लिए ई-मुलाकात सुविधा जिला जेल में शुरू की जा रही है। इसके माध्यम से बंदी अपने परिजनों को सामने से देख सकेंगे। बताया जा रहा है कि ई-मुलाकात को लेकर बंदियों में उत्साह है। ई-मुलाकात के लिए ई-प्रिजन्स की वेबसाईट पर विजिटर फॉर्म भरकर ई-मुलाकात के लिए आवेदन किया जा सकता है। जिसके बाद जेल प्रबंधन द्वारा आवेदन स्वीकार कर निश्चित तारीख व समय की जानकारी ई-मेल एवं मोबाईल पर मेसेज के माध्यम से दी जाएगी। निर्धारित तारीख व समय पर परिजन बंदी से ई-मुलाकात कर सकेंगे।

 

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned