दो नाप के बारदानों में भरी जाएगी किसानों की धान

धान उपार्जन में चलेंगे दो नापों के बारदाने

By: Rajkumar yadav

Published: 10 Nov 2017, 11:37 AM IST

मंडला। इस वर्ष २०१७-१८ में होने वाले धान उपार्जन में धान का भराव दो अलग अलग नाप के बारदानों में किया जाएगा। इससे न केवल किसानों को परेशानी होगी, बल्कि खरीदी के बाद धान भंडारण में भी परेशानी आएंगी। श्रमिकों को अलग अलग नाप की बोरियों का भंडारण करने के लिए दो तरह की कतारें लगानी होंगी। यही नहीं, धान की बोरियों के स्टैग लगाने में भी हम्मालों को विशेष सावधानी बरतनी होगी। यदि दो तरह के बोरों से एक ही स्टैग बनाया जाए जो स्टैग टूटने का खतरा लगातार बना रहेगा। यही कारण है कि धान भंडारण के लिए चलाए जाने वाले दो तरह के बारदाने संबंधित विभागीय अधिकारियों के लिए चिंता का विषय बने हुए हैं।
दरअसल वर्ष २०१७-१८ के लिए होने वाले धान उपार्जन की तैयारी शुरु कर दी है। जानकारी के अनुसार, इस वर्ष किसानों से खरीदे जाने वाले धान का भराव दो अलग अलग नाप के बारदानों में किया जाएगा। शासन ने निर्णय लिया है कि इस वर्ष नए बारदानों के साथ पिछले दो वर्षों के पुराने बारदाने भी उपयोग में लाए जाएंगे। यही कारण है कि जिले के सभी खरीदी केंद्रों में नए बारदानों के साथ वर्ष २०१६ के उपार्जन में बचे बारदानों को भी उपयोग में लाया जाएगा। वर्ष २०१७ की रबी फसल के उपार्जन कार्य के दौरान बचे हुए बारदानों को भी खरीफ सीजन के उपार्जन में उपयोग किया जाएगा। नए बारदानों में ४०किग्रा धान का भराव किया जाएगा। जबकि पुराने बारदानों में ३७.५ किग्रा. धान भरी जाएगी।
तौल में भी परेशानी
विभागीय जानकारी के मुताबिक, जिले के सभी खरीदी केंद्रों में नए पुराने बारदानों की उपलब्धता ५०-५० प्रतिशत होगी। जानकारों के मुताबिक इससे धान की तौल कराने में भी अतिरिक्त सावधानी बरतनी पड़ेगी। तौल के बाद भंडारण के लिए भी बोरों की दो अलग अलग कतारें लगानी होंगी। चाहे परिवहन हो या गोदामोंं अथवा ओपन कैब में भंडारण। दो तरह के नाप की बोरियों के भंडारण में विशेष सावधानी न बरतने से स्टैग टूटने का खतरा बना ही रहेगा।
शासन के निर्देशों के अनुसार, इस वर्ष दो तरह की नाप के बारदानों में धान भराव होगा।
एसके उपाध्याय, गोदाम प्रभारी, मंडला

Rajkumar yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned