पहले एडमिशन, फिर होगा पुस्तक वितरण

जिले में अब तक शुरू नहीं छात्रों को पुस्तक वितरण

By: Mangal Singh Thakur

Published: 15 Jun 2021, 11:43 AM IST

मंडला. जिले के शासकीय स्कूलों में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं की अब तक पढ़ाई शुरू नहीं हो पाई है। भले ही स्कूल शिक्षा विभाग ऑनलाइन पढ़ाई शुरू करने की तैयारी कर रहा है लेकिन आदिवासी बहुल्य जिले में यह योजना साकार रूप ले सकेगी इस पर प्रश्न चिन्ह लगा हुआ है। इसका कारण यह है कि शासकीय स्कूलों में पढऩे वाले हजारों बच्चों के पास पुस्तकें ही नहीं ै है। अब यदि पुस्तकें ही न हों तो पढ़ाई शुरू होने का सवाल ही नहीं उठता। गौरतलब है कि कोरोना संकट के कारण सभी स्कूल बंद हैं। जबकि इससे पहले अपै्रल माह मेंं नया सत्र शुरू होने के साथ ही छात्र छात्राओं को पुस्तक वितरण शुरू हो जाते थे। अब वर्ष 2021 का जून का आधा महीना बीत चुका है लेकिन छात्र छात्राओं को पुस्तक वितरण अब तक शुरू नहीं हो सका है।
दर्ज बच्चों की संख्या 1.69 लाख
जिले भर के शासकीय स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों की कुल संख्या 1.69 लाख है। इनमें प्राशा में दर्ज संख्या 68 हजार 798 है। माशा में दर्ज संख्या 49 हजार 885 है। हाई स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों की संख्या 31 हजार 946 और हायर सेकंडरी स्कूल में पढऩे वाले छात्र छात्राओं की संख्या 19 हजार 324 है। इस तरह अलग अलग स्कूलों में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं की कुल संख्या 1,69,953 है।
आज से शुरू होगी भर्ती
जिला शिक्षा कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, जिले भर में छात्र-छात्राओं के एडमिशन 15 जून से शुरू होंगे जो 30 जून तक जारी रहेंगे। इस दौरान जहां नई भर्तियां होंगी वहीं पुरानी कक्षा में परीक्षा पास कर विद्यार्थी नई कक्षा में एडमिशन लेंगे। एपीसी मुकेश पांडे ने बताया कि एडमिशन की प्रक्रिया 30 जून तक जारी रहेगी। इस दौरान कक्षाओं में दर्ज संख्या मे बदलाव आएगा। यही कारण है कि भर्ती प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही पुस्तक वितरण शुरू हो पाएगा।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned