अतिथि शिक्षकों को चार माह से नहीं मिला मानदेय

अतिथि शिक्षकों को चार माह से नहीं मिला मानदेय

Amaresh Singh | Publish: Apr, 23 2019 06:46:34 PM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 06:46:35 PM (IST) Mandla, Mandla, Madhya Pradesh, India

आवेदन करके थक चुके हैं शिक्षक

मंडला। जिले के हजारों अतिथि शिक्षकों का मानदेय पिछले चार पांच महीने से नहीं मिला है। जिसके कारण अतिथि शिक्षकों को भारी आर्थिक तंगी के दौर से गुजरना पड़ रहा है। जिसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों को आवेदन निवेदन करते अतिथि शिक्षक थक चुके हैं। किसी ने भी अब तक अतिथि शिक्षकों की सुध नहीं ली है। इसके बाद भी चुनावों में अधिक से अधिक मतदान कराने काम करने का प्रशिक्षण देने का प्रशासनिक दौर जारी है। जिसके लिए कहा जा रहा है कि अधिक मतदान कराने वाले अतिथि शिक्षकों को कलेक्टर के द्वारा प्रमाण पत्र देकर प्रोत्साहित किया जाएगा। संघ के जिला अध्यक्ष पीडी खैरवार ने मांग की है कि मार्च तक का मानदेय जल्द ही भुगतान करा दिया जाए ताकि अतिथि शिक्षक अपने परिवार के लिए राशन पानी की व्यवस्था कर अधिक मतदान के लिए काम कर सकें। खैरवार ने बताया कि पिछले चुनावों में मतदान जागरूकता लाने का काम अतिथि शिक्षक करते आ रहा हैं। भूखे पेट रहकर भी जन जागरूकता को अपने शिक्षकीय कार्य का अभिन्न अंग बनाकर छात्रों और अभिभावकों के साथ मिलकर अधिक मतदान के फायदे के बारे में बताकर जागरूकता लाने हर संभव प्रयास किया जाता रहा है। संघ के सदस्यों का कहना है कि अतिथि शिक्षकों को किसी भी प्रकार के औपचारिक प्रोत्साहन की जरूरत नहीं है, अतिथि शिक्षकों की एक मात्र लंबित मांग नियमित रोजगार जो ग्यारह सालों से जारी है पूरी की जाए। अतिथि शिक्षकों की गुणवत्ता युक्त शिक्षकीय सेवाओं को अब तक सरकार ने कोई तवज्जो नहीं दिया है। जिसके कारण प्रदेश के लाखों परिवार भुखमरी का शिकार होते आ रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned