अधूरे हाइवे पर फंस रहे भारी मालवाहक, बारिश में यात्रियों पर मंडरा रहा खतरा

40 किमी लंबा मार्ग उखड़ा हुआ है

By: amaresh singh

Published: 07 Jul 2019, 05:24 PM IST

मंडला। दो जुलाई से जिले भर में अनवरत बारिश हो रही है। हालांकि कभी कुछ कुछ अंतराल के लिए बारिश में विराम भी लग जाता है लेकिन 24 घंटे में अधिकांश समय बारिश होने के कारण पिछले वर्ष का बारिश का रिकार्ड तोड़ चुकी है। एक ओर बारिश के कारण किसानों के चेहरे खिले हुए हैं तो दूसरी ओर उन हजारों यात्रियों के सिर पर भीषण हादसे का खतरा मंडरा रहा है जो मंडला से जबलपुर जाने के हाइवे से गुजर रहे हैं। मंडला से नारायणगंज के बीच का लगभग 40 किमी लंबा मार्ग जगह जगह से उखड़ा हुआ और मुरम, गिट्टी एवं मिट्टी से भरा हुआ है। बारिश होने के कारण यह मार्ग दलदल सा हो गया है, जहां से गुजरना न सिर्फ दोपहिया वाहनचालकों के लिए मुश्किल का सबब बन गया है बल्कि भारी वाहनों के पहिए भी इस दलदली कीचड़ में फिसल रहे हैं।


घाटी पर बढ़ा खतरा
जिला मुख्यालय के तिंदनी से इस मार्ग पर खतरा बढ़ जाता है, तिंदनी से फूलसागर, ग्वारी, बबैहा, चिरईडोंगरी तक सड़क तो है ही नहीं, सिर्फ गिट्टी के ढेर, मुरम और रेतीली मिट्टी पूरे मार्ग पर बिछी हुई है। मार्ग में एक ओर टुकड़े टुकड़े में कांक्रीट सड़क का निर्माण किया गया है। इससे खतरा और अधिक बढ़ गया है क्योंकि ऐसे क्षेत्रों में वाहन एक दूसरे को ओवरटेक नहीं कर पाते और जाम की स्थिति निर्मित हो रही है। इसके अलावा नारायणगंज के पास कूम्हा के नजदीक चिरी क्षेत्र की घाटी भी वाहन चालकों के लिए हादसे की डगर बन चुकी है। गहरे घुमावदार सड़क पर सिवाय कीचड़ के कुछ भी नहीं, चढ़ाई होने के कारण नारायणगंज से मंडला की ओर आने के दौरान भारी वाहन चालकों को अनियंत्रित होने का खतरा बना हुआ है तो दूसरी ओर नारायणगंज की ओर जाने वाले वाहन चालकों को सड़क किनारे अपने वाहन लगाने पड़ रहे हैं क्योंकि पहियों के फिसलने से वे सीधे भारी वाहनों की चपेट में आ सकते हैं।


शुक्रवार की खरीदी ठप
शुक्रवार को साप्ताहिक बाजार बंद होने के कारण जिले के अधिकांश व्यापारी जबलपुर खरीदी-बिक्री के लिए जाते हंै। मंडला जबलपुर मार्ग पर लगातार बढ़ते खतरे को देखते हुए व्यापारियों का आना जाना कम होता जा रहा है। इसका सीधा असर जिले के व्यापार पर पड़ रहा है। व्यापारी अमित सीरवानी, महेश पमनानी, अशोक पटैल, आकाश सिहारे आदि का कहना है कि हाइवे से गुजरना यानि दुर्घटना को न्योता देना है। बारिश के कारण निवास मार्ग की घाटी भरे मार्ग पर भी खतरा बढ़ गया है। यही कारण है कि 5 जुलाई की शुक्रवार को नगर के अनेक व्यापारियों ने जबलपुर जाने की योजना को टाल दिया। इसका असर बाजार और खरीदी बिक्री पर भी पड़ेगा। शुक्रवार ही नहीं, शनिवार को भी ग्वारी के समीप, चिरी क्षेत्र में और कूम्हा के पास कई घंटो यात्रियों और वाहन चालकों को जाम में फंसना पड़ा।

Show More
amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned