जानिए, आखिर क्यों गए13 राज्यों के अधिकारी कान्हा पार्क??

Vikhyaat Mandal

Publish: Feb, 15 2018 04:12:07 PM (IST)

Mandla, Madhya Pradesh, India
जानिए, आखिर क्यों गए13 राज्यों के अधिकारी कान्हा पार्क??

वन, पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा आयोजित की गई कार्यशाला


मंडला. कान्हा टाइगर रिजर्व में भारत सरकार वन एवं पर्यावरण तथा जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। वन्यप्राणी आवास एवं प्रबंधन विषय पर अखिल भारतीय वन सेवा के अधिकारियों को एक सप्ताह तक प्रशिक्षण दिया जाना है। जानकारी के अनुसार,16 फरवरी तक यह प्रशिक्षण कार्यक्रम चलेगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम में 13 राज्यों के 21 वरिष्ठ अधिकारी शामिल हो रहे हैं। प्रशिक्षण में देश के ख्याति प्राप्त वन्यप्राणी विशेषज्ञ डॉ एजेटी.जॉनसिंग- वरिष्ठ प्रोफेसर, भारतीय वन्यजीव संस्थान, देहरादून, डॉ. सुहास कुमार- प्रधान मुख्य वन संरक्षक, मध्यप्रदेश (सेवानिवृत्त), डॉ. खगेश्वर नायक, मुख्य वन संरक्षक (सेवानिवृत्त), डॉ. जी.डी. मुरुतकर, प्रोफेसर, पर्यावरण विज्ञान, विज्ञान महाविद्यालय चिखलदरा (महराष्ट्र), शुभरंजन सेन- क्षेत्र संचालक, पेंच टाईगर रिजर्व, डॉ. संजय शुक्ला- क्षेत्र संचालक, कान्हा टाईगर रिजर्व एवं रितेश सरौठिया, उप वन संरक्षक, स्टेट टाईगर स्ट्राईक फोर्स, भोपाल द्वारा व्याख्यान दिया जाएगा। साथ ही कान्हा टाईगर रिजर्व के अंतर्गत वन्यप्राणी प्रबंधन क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों का क्षेत्रीय भ्रमण में अवलोकन कराया जाएगा।
केटीआर में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले अधिकारियों का डॉ. संजय शुक्ला, क्षेत्र संचालक, केटीआर द्वारा स्वागत किया गया और यहां चल रहे विभिन्न प्रकार के कार्यों के बारे में बताया गया। डॉ सुहास कुमार, प्रधान मुख्य वन संरक्षक, म.प्र. (सेवानिवृत्त) द्वारा वन्यप्राणी आवास एवं प्रबंधन तथा ईको-टूरिज्म विषय पर व्याख्यान पॉवरपाईन्ट प्रस्तुतीकरण किया गया। डॉ जी.डी. मुरुतकर द्वारा बाघ आरक्षित क्षेत्रों में घास मैदान प्रबंधन विषय पर व्याख्यान दिया गया। इसके अलावा केटीआर के अंतर्गत विभिन्न घास के मैदानों का क्षेत्र भ्रमण कराने के साथ प्रशिक्षणरत अधिकारियों को मैदानों में किए जा रहे घास प्रबंधन के विभिन्न कार्यों का अवलोकन कराया और उसके विषय में जानकारी दी गई।

..............


बोर्ड प्रायोगिक परीक्षा समयावधि में कराने निर्देश जारी
मंडला। माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित की जाने वाली हाईस्कूल एवं हायर सैकेण्डरी बोर्ड परीक्षा 2018 द्वारा प्रायोगिक परीक्षा को सम्पन्न कराने के लिये समस्त शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के लिये बाह्य परीक्षकों की नियुक्ति आदेश जारी किये जा चुके हैं। जिला शिक्षा अधिकारी उदयभान पटैल ने बताया कि नियमित परीक्षार्थियों के लिये मण्डल द्वारा निर्धारित तिथि 12 से 26 फरवरी के मध्य प्रायोगिक परीक्षा सम्पन्न कराकर तत्काल उत्तर पुस्तिका एवं सील बन्द अंकों का लिफाफा समन्वयक संस्था शासकीय उच्च माध्य विद्यालय क्रमांक-2 में जमा करें। निर्धारित समयावधि में कार्रवाई नहीं करने पर मंडल के निर्देशानुसार विलम्ब शुल्क रूपये पांच हजार रुपए जमा करने पर ही गोपनीय सामग्री स्वीकार की जाएगी। अत: इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता देने को कहा गया है।
*******

1
Ad Block is Banned