सरिया फैक्ट्री की भट्टी में विस्फोट से एक की मौत

मनेरी औद्योगिक क्षेत्र में दहशत, हादसे में पांच गंभीर

By: Mangal Singh Thakur

Published: 12 Feb 2021, 09:46 PM IST

मंडला. जिले के औद्योगिक क्षेत्र मनेरी स्थित भूमिजा स्टील प्लांट में गुरूवार की आधी रात को लगभग 1.30 बजे जबर्दस्त विस्फोट हुआ। यह विस्फोट हुआ उस भट्टी में जिसमें पिघले हुए लोहे को उबाला जा रहा था। भट्टी में विस्फोट होने से पिघला हुआ लोहा वहां काम कर रहे मजदूरों पर आ गिरा और मौके पर ही एक मजदूर की मौत हो गई। शेष पांच मजदूर खौलते हुए पिघले लोहा की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गए। सभी घायलों को जबलपुर स्थित मेडिकल कॉलेज में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। इस हादसे के बाद पूरे क्षेत्रवासियों और फैक्ट्री के मजदूरोंं में जबर्दस्त आक्रोश पनप रहा है क्योंकि मृत श्रमिक के परिजनों का आरोप है कि उन्हें रात को नहीं बल्कि सुबह फैक्ट्री प्रबंधन ने हादसे की सूचना दी। सूचना मिलने पर शुक्रवार को कलेक्टर हर्षिका सिंह, एसपी यशपाल सिंह राजपूत एवं अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया।
बताया जा रहा है कि भूमिजा स्टील प्लांट में सरिया बनाए जाते हैं। गुरूवार की रात लगभग 1.30 बजे भट्टी में विस्फोट हुआ और पिघला लोहा वहां काम कर रहे श्रमिकों पर आ गिरा। मौके पर काम कर रहे मजदूर अवधेश पिता किशनलाल पटेल ग्राम डूंडी जिला जबलपुर की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा शिवकुमार ग्राम झुरकी, प्रमोद पटेल ग्राम बम्हनी एवं सीधी जिले के निवासी रमेश प्रजापति, आकाश कुमार, ब्रजेश प्रजापति बुरी तरह झुलस गए। इन सभी को जबलपुर स्थित मेडिकल कॉलेज उपचार के लिए ले जाया गया।
पीडि़त परिवार का आरोप
मृतक अवधेश पटेल के परिवार ने आरोप लगाया कि स्टील प्लांट प्रबंधन ने इस मामले को दबाने की पूरी कोशिश की। इतनी बड़ी दुर्घटना की सूचना को रात भर छुपाकर रखा गया। सुबह इस बात की जानकारी परिजनों को दी गई। सभी घायलों के परिजन सुबह मेडिकल कॉलेज पहुंचे और घायलों को बेहतर इलाज के लिए निजी अस्पताल में शिफ्ट कराया।
प्रशासन सख्त
मुआयना करने घटना स्थल पर पहुंचीं कलेक्टर सिंह ने श्रम अधिकारी जितेंद्र मेश्राम को दुर्घटना में घायल होने वाले 6 व्यक्तियों तथा एक मृतक के परिजनों को श्रम कानून एवं अन्य नियमों के तहत् मुआवजा प्रदान करने की कार्यवाही करने को कहा। प्लांट में बायलर के फटने की घटना के कारणों की जानकारी लेते हुए प्लांट के अधिकारियों से सुरक्षा मानकों के संबंध में विस्तार से पूछताछ की। एसडीएम निवास पुष्पेन्द्र अहके को घायल व्यक्तियों के स्वास्थ्य पर निगरानी रखने एवं उनके परिवार के सतत संपर्क में रहने को कहा। आगामी 10 दिनों में औद्योगिक क्षेत्र में संचालित अन्य इकाईयों में सुरक्षा के उपलब्ध इंतजाम तथा नियमानुसार आवश्यक व्यवस्थाओं संबंधी जानकारी पेश करने और उद्योग, श्रम एवं राजस्व विभाग के संबंधित अधिकारियों को प्लांट के सुरक्षा मानकों की नियमानुसार पड़ताल कर घटना के वास्तविक कारणों की जांच कर जल्द रिपोर्ट सौंपने को कहा।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned